Doubtnut Promotions Sticky

अल्प विलेय प्रबल विद्युत अपघट्य AgIO3 (अणु भार = 283) के संतृप्त विलयन में निम्न साम्य स्थापित होता है AglO3(s),Ag+(aq)=IO3(aq)
यदि किसी दिए गए ताप पर AgIO3 का विलेयता गुणनफल स्थिरांक Ksp1.0×108 है तो इसके संतृप्त विलयन के 100 mL में उपस्थित AgIO3का द्रव्यमान क्या होगा ?

A

1.0×104g

B

28.3×102g

C

1.0×107g

D

2.83×103g

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:D


AglO3<Ag+S+IO3S [S = विलेयता]
Ksp=S2
या S21.0×108
S=1.0×104mol/lit
=1.0×104×283g/lit
=28.3×104gm/100ml
=2.83×103gm/100ml

Was this answer helpful?470
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Related Playlists


Similar Questions