Doubtnut Promotions Sticky

निम्न विलयनों में Ag+ आयनों की सांद्रता का बढ़ता हुआ क्रम है:
I. AgCl का संतृप्त विलयन
II. AgI का संतृप्त विलयन
III. 0.1 M NH3 में 1 M Ag(NH3)+2
IV. 0.1 M KCN में 1 M Ag(CN)2
दिया गया है:
AgCl के लिए Ksp=1.0×1010
AgI के लिए Ksp=1.0×1016
Ag(NH3)+2 के लिए Kd=1.0×108
Ag(CN)2 के लिए Kd=1.0×1021

A

I<II<III<IV

B

IV<III<II<I

C

IV<II<III<I

D

IV<II<I<III

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:C


[I][Ag+]=Ksp(AgCl)=1×1010=105M
[II][Ag+]=Ksp(AgI)=1×1016=108M
[III][Ag(NH3)+2]Ag++2NH3
Kd=1×108=[Ag+][NH3]2Ag[NH3]+aq=[Ag+]0.121.0[Ag+]=1×106M
[IV]Ag(CN)12(aq)Ag+(aq)+2CN1(aq)
KCN(0.1M)K+aq+CN1aq(0.1M)
Kd=1×1021=[Ag+][CN]2[Ag(CN)2]1=[Ag+][0.1]21.0
[Ag+]=1×1019M

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    निम्नलिखित लवणों के 0.1 M विलयन का pH का बढ़ता हुआ क्रम है:

    AKCl<NH4ClNaCN<HCl
    BHCl<NH4Cl<KCl<NaCN
    CNaCn<NH4Cl<KCl<HCl
    DHCl<KCl<NaCN<NH4Cl
  • Question 1 - Select One

    निम्नलिखित लवणों के 0.1 M विलयन के pH का बढ़ता हुआ क्रम है

    ANaCl<NH4Cl<NaCN<HCl
    BHCl<NH4Cl<NaCl<NaCN
    CNaCN<NH4Cl<NaCl<HCl
    DHCl<NaCl<NaCN<NH4Cl
  • Question 1 - Select One

    निम्नलिखित लवणों में 0.1 (M) विलयन का pH किस क्रम में बढ़ता है

    ANaCl<NH4Cl<NaCN<HCI
    BHCl<NH4Cl<NaCl<NaCN
    CNaCN<NH4CI<NaCl<HCl
    DHCl<NaCl<NaCN<NH4Cl
  • Question 1 - Select One

    The increasing order of Ag+ ion concentration in
    I. Saturated solution of AgCl
    II. Saturated solution of Agl
    III. 1MAg(NH3)+2 in 0.1MNH3
    IV. 1MAg(CN)2 in 0.1MKCN
    Given :
    Ksp of AgCl=1.0×1010
    Ksp of Agl=1.0×1016
    Kd of Ag(NH3)+2=1.0×108
    Kd of Ag(CN)2=1.0×1021

    AI<II<III<IV
    BIV<III<II<I
    CIV<II<III<I
    DIV<II<I<III
  • Question 1 - Select One

    एक निश्चित विलयन में उपस्थित KCI और Kा प्रत्येक की सांद्रता 0.001 M है। यदि जल में Agl के संतृप्त विलयन के 20 mL में इस विलयन के 20mL को मिलाया जाता है, तो क्या घटित होगा? (AgCI का
    KSP=1010,AgI KSP=1016

    AAgl अवक्षेपित होगा
    BAgCI अवक्षेपित होगा
    CAgCI और AgI दोनों अवक्षेपित होंगे
    Dकोई अवक्षेपित नहीं होगा
  • Question 1 - Select One

    1MNH3(aq) में AgCN(Ksp=2.5×106) और AgCl(Ksp=1.6×1010) की समकालिक विलेयता क्रमश: है -
    दिया गया है- Kf[Ag(NH3)2]+=107

    A1.58×103,1.26x105
    B0.04,6.25×108
    C5.58×108,0.037
    D0.037,5.78×108
  • Question 1 - Select One

    Ca(OH)2 के संतृप्त विलयन की pH 9 है। Ca(OH)2 का विलेयता गुणनफल (Ksp) है

    A0.5×1015
    B0.25×1010
    C0.125×1015
    D0.5×1010

Similar Questions