Doubtnut Promotions Sticky

H2S के लिए Ka1=107,Ka2=1014 है। 0.1 M H2S में H2S में संतृप्त विलयन में Mn2+,Co2+ और Ag+ प्रत्येक की मूल सांद्रता 0.01 M है। इन धातु आयनों के चयनात्मक अवक्षेपण के लिए pH परास निर्धारित कीजिए।
Ksp,MnS=2.5×1010,CoS=4×1021,Ag2S=6.3×1050
MnS और CoS के अवक्षेपण के लिए pH में अंतर की गणना कीजिए।

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:D


H2S के लिए
H2S2H++S2
Ka=Ka1Ka2=[H+]2[S2][H2S],[H+]2=1021[H2S][S2]
[H+]2=1022[S2]
Ag2S के अवक्षेप के लिए [S2]
Ksp/[Ag+]2=6.3×1050(102)2=6.3×1046M
अर्थात बहुत निम्न मान यह किसी भी pH पर अपक्षेपित हो जाएगा।
CoS के अवक्षेपण के लिए [S2]
4×1021102=4×1019
[H+]=10224×1019=1.58×102M,pH=1.8
MnS के अवक्षेपण के लिए [S2]
2.5×1010102=2.5×108
[H+]=10222.5×108=6.3×108 है
pH=7.2
pH<1.8, केवल Ag2S अपक्षेपित होगा।
pH1.8 सक 7.2 केपल CoS अपक्षेपित होगा।
pH>7.2 केवल MnS अपक्षेपित होगा।

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    एक विलयन, जिसमें Mn2+,Fe+,Zn2+ और Hg2+ हैं और प्रत्येक की सांद्रता 103 M है, को 1016 M सल्फाइड आयन के साथ उपचारित किया जाता है। यदि MnS, FeS, ZnS और HgS का Ksp क्रमश: 1013,1018,1024 और 1053 हैं, तो सबसे पहले कौन अवक्षेपित होगा?

    AFeS
    BMgS
    CHgS
    DZnS
  • Question 1 - Select One

    Ag2,C2O4 के संतृप्त विलयन में Ag+ आयनों की सांद्रता 2.2×104molL1 है। Ag2C2O4 का विलेयता गुणनफल है

    A2.66×1012
    B4.5×1011
    C5.3×1012
    D2.42×108
  • Question 1 - Select One

    एक विलयन जिसमें Mn2+,Fe2+,Zn2+ और Hg2+ प्रत्येक के 103M को 106M सल्फाइड आयन के साथ उपचारित किया जाता है। यदि MnS,FeS,ZnS और HgS के Ksp क्रमशः 1013,1018,1024 और 1053 है। निम्न में से कौन सा पहले अवक्षेपित होगा?

    AFeS
    BMgS
    CHgS
    DZnS
  • Question 1 - Select One

    एक 0.10 M H2S के साथ संतृप्त 0.01 M ZnCl2 विलयन में ZnS के अवक्षेपण को रोकने के लिए आवश्यक न्यूनतम pH क्या होगी?
    [ दिया गया है-Ksp=1021,Ka1×Ka2=1020]

    A0
    B1
    C2
    D4
  • Question 1 - Select One

    0.10MH2S के साथ संतृप्त 0.01MZnCI2 के एक विलयन में ZnS के अवक्षेपण को रोकने के लिए आवश्यक न्यूनतम pH क्या है?
    [दिया है: Ksp=1021,Ka1xKa2=1020]

    A0
    B1
    C2
    D4
  • Question 1 - Select One

    एक निश्चित विलयन में उपस्थित KCI और Kा प्रत्येक की सांद्रता 0.001 M है। यदि जल में Agl के संतृप्त विलयन के 20 mL में इस विलयन के 20mL को मिलाया जाता है, तो क्या घटित होगा? (AgCI का
    KSP=1010,AgI KSP=1016

    AAgl अवक्षेपित होगा
    BAgCI अवक्षेपित होगा
    CAgCI और AgI दोनों अवक्षेपित होंगे
    Dकोई अवक्षेपित नहीं होगा
  • Question 1 - Select One

    0.1MH2S के साथ संतृप्त 0.01MZnCl2 विलयन में Zns के अवक्षेपण को रोकने के लिए आवश्यक न्यूनतम pH क्या है? (znS) Ksp=1027Ka1×Ka2(H2S)=1020

    A4
    B3
    C2
    D1
  • Question 1 - Select One

    298 K ताप पर Cr(OH)3 का विलेयता गुणनफल 6.0×1031 है। Cr(OH)3 के संतृप्त विलयन में हाइड्रॉक्साइड आयनों की सांद्रता होगी?

    A(1×1031)1/4
    B(4.86×1029)1/4
    C(18×1031)1/2
    D(2.22×1031)1/4

Similar Questions