Doubtnut Promotions Sticky

निम्नलिखित में से कौन सा कथन गलत है?

A

R और S विन्यास, एक प्रकाशिक सक्रिय यौगिक के प्रतिबिंब समावयवियों के अनुरूप होते हैं

B

एक प्रकाशिक सक्रिय यौगिक को रेसिमेट में परिवर्तित करने के प्रक्रम को रेसिमीकरण कहा जाता है।

C

सममिति तल रखने वाला एक अणु, प्रकाशिक सक्रिय हो सकता है

D

प्रकाशिक समावयवी जो कि प्रतिबिंब समावयवी नहीं होते हैं, उन्हें विवरिम समावयवी कहा जाता है

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:C


R – S- विन्यास, प्रतिबिंब रूपी समावयवियों से संबंधित होता है, जो कि प्रकाशिक सक्रिय होते हैं।
( सत्य)
(ii) सममोलर मात्रा में प्रकाशिक सक्रिय यौगिकों (d और I - प्रकार ) के मिश्रण को रेसिमीकरण कहा जाता है।
( सत्य)
(iii) सममिति तल रखने वाला एक अणु, प्रकाशिक-सक्रियता नहीं दिखाता है। इसलिए, दिया गया कथन गलत है।
(iv) प्रकाशिक समावयवी जो कि प्रतिबिंब समावयवी नहीं होते हैं, उन्हें विवरिम समावयवी कहा जाता है। (सत्य है)
(v) सभी किरेल वस्तुएँ, असममित होती हैं। (सत्य)
सममिति तल रखने वाला एक अणु, प्रकाशिक सक्रिय हो सकता हैं, यही सही उत्तर है।

Was this answer helpful?920
Doubtnut Promotions Banner