Doubtnut Promotions Sticky

निम्नलिखित में से कौन सा कथन गलत है?

A

विभिन्न विलायकों में तैयार किए गए समान मोललता के दो सुक्रोस विलयनों का हिमांक अवनमन समान होगा।

B

एक विलयन का परासरण दाब समीकरण π = MRT द्वारा दिया जाता है, जहां M विलयन की मोलरता है।

C

राउल्ट नियम कहता है कि एक विलयन के किसी घटक का वाष्प दाब उसके मोल प्रभाज के समानुपाती होता है।

D

प्रत्येक यौगिक के 0.01 M जलीय विलयन के लिए परासरण दाब का सही क्रम है: BaCl2>KCl>CH3COOH> सुक्रोज़

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A


विभिन्न विलायकों में तैयार किए गए समान मोललता के दो सुक्रोस विलयनों का हिमांक अवनमन समान नहीं होगा, क्योंकि दोनों विलायको के लिए K भिन्न होगा इसलिए कथन (A) गलत है। शेष सभी सही हैं।
π = MRT, जहां M विलयन की मोलरता है, इसलिए (B) सही है। एक विलयन के एक घटक का वाष्प दाब इसके मोल प्रभाज के समानुपाती होता है, यह राऊल्ट का नियम है इसलिए विकल्प (C) भी सही है।
( m x i) के मान के आधार पर, 0.01 M जलीय विलयन के लिए परासरण दाब का यह क्रम सही है:
BaCl2>KCl>CH3COOH>सुक्रोज़

Was this answer helpful?942
Doubtnut Promotions Banner