Doubtnut Promotions Sticky

निम्नलिखित में से कौन सा कथन गलत है ?

A

[Cu(NH3)4]2+ का स्थायी चुंबकीय आघूर्ण 1.732B.M. है

B

साम्यावस्था स्थिरांक अग्र और पश्च अभिक्रियाओ के दर स्थिरांक का अनुपात होता है

C

[Ni(CO)4] चतुष्फलकीय है

D

NCl5 के निर्माण के लिए 'N', sp3d संकर अवस्था को स्वीकार करता है

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:D


जैसा कि नाइट्रोजन में रिक्त d-कक्षक उपलब्ध नहीं होते है इसलिए यह 5 की संयोजकता को प्रदर्शित नहीं कर सकता है अर्थात, NCl5 संभव नहीं है। यहाँ शेष अन्य कथन सही है।
Keq=KfKb
[Ni(CO)4] चतुष्फलकीय है क्यूंकि Ni में sp3 संकरण होता है
[Cu(NH3)4]2+ का स्थायी चुंबकीय आघूर्ण 1.732B.M. है क्यूंकि इसमें Cu2+ में 1 अयुग्मित इलेक्ट्रॉन होता है इसलिए
μ=n(n+2)=1(1+2) है।
=1.73BM.

Was this answer helpful?246
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions