Doubtnut Promotions Sticky

HBr का द्विध्रुव आघूर्ण 2.6×1030esv.cm है। और अंतरा-परमाणुक अंतराल 1.41Å है। HBr में आयनिक लक्षण की प्रतिशतता है:

A

10.5

B

11.5

C

12.5

D

13.5

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


प्रतिशत आयनिक लक्षण
= ("प्रेक्षित द्विध्रुव आघूर्ण")/("सैद्धांतिक द्विध्रुव आघूर्ण") xx 100
100 % आयनिक लक्षण का सैद्धांतिक द्विध्रुव आघूर्ण
=e×d=(1.6×1019C)
×(1.41×1010m)
=2.256×1029
% आयनिक लक्षण
=2.6×10302.256×6×1029×100=11.5%

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    HCl के द्विध्रुव आघूर्ण का प्रायोगिक मान 1 .03 D है। H - Cl बंध की लंबाई 1.275Å है। HCl में आयनिक लक्षण का प्रतिशत है:
    [दिया गया है: 1D=1018 esu cm]

    A43
    B21
    C17
    D7
  • Question 1 - Select One

    LiH का द्विध्रुव आघूर्ण 1.964×1029 कूलोम मीटर है और Li और H के बीच अंतरापरमाणुक दुरी 1.596 Å है | LiH का प्रतिशत आयनिक लक्षण है -

    A0.825
    B0.632
    C0.768
    D0.905
  • Question 1 - Select One

    यदि AB अणु का द्विध्रुव आघूर्ण 1.2 D है और A-B बंध की लंबाई 1 A है तो बंध का % आयनिक लक्षण है-
    [दिया गया हैं: 1 डेबाई =1018 esu. cm]

    A75
    B50
    C60
    D25
  • Question 1 - Select One

    यदि AB अणु का द्विध्रुव आघूर्ण 1.6 D द्वारा दिया जाता है और A-B की बंध लंबाई 1Å है, तब बंध का % सहसंयोजक लक्षण है:

    A25
    B33.33
    C66.66
    D75
  • Question 1 - Select One

    यदि HCl का द्विध्रुव आघूर्ण 1.08 D है और बंध दूरी 1.27 Å है, तब हाइड्रोजन और क्लोरीन पर आंशिक आवेश क्रमश: हैं:

    A+1.0 और 1.0
    B+0.85 और 0.85
    C+0.356 और 0.356
    D+0.178 और 0.178
  • Question 1 - Select One

    एक यौगिक AB में, A और B के बीच विद्युत् ऋणता का अंतर 1.9 है। A और B की परमाणु त्रिज्या 4Å और 2Å हैं। A और B परमाणुओं के बीच की दूरी अर्थात dAB है

    A6.72Å
    B5.82Å
    C6.9Å
    D7.54Å
  • Question 1 - Select One

    277 K पर जल के वियोजन की मात्रा 1×107% है जल के आयनिक गुणनफल का मान है

    A3.0×1014
    B3.085×1015
    C1×1016
    D1×1014

Similar Questions