Doubtnut Promotions Sticky

रुद्धोष्म और समतापीय स्थितियों के तहत एक आदर्श गैस का उत्क्रमणीय प्रसार चित्र में दिखाया गया है | निम्नलिखित में से कौन सा कथन अशुद्ध है
रुद्धोष्म और समतापीय स्थितियों  के तहत एक आदर्श गैस का उत्क्रमणीय प्रसार चित्र में दिखाया गया है | निम्नलिखित में से कौन सा कथन अशुद्ध है

A

T3>T1

B

T1=T2

C

ΔU>ΔU

D

W>W

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A


एक समतापीय प्रक्रम में, ताप नियत है, T2=T1
P-V आरेख के तहत क्षेत्रफल अधिक समतापीय है,
W>W
अब ΔU=0
रुद्धोष्म प्रक्रम में T1Vγ11=T3Vγ13
T3T1=(V1V3)γ1
T3<T1 इसलिए आंतरिक ऊर्जा कम हो जाती है,
ΔU>ΔU

Was this answer helpful?712
Doubtnut Promotions Banner