Doubtnut Promotions Sticky

यदि क्रिस्टलीय ठोस AB में, A+ और B की त्रिज्या क्रमश: 96 pm और 200 pm है। तब AB की अपेक्षित संरचना होगी :

A

त्रिकोणीय

B

अष्टफलकीय

C

षट्कोणीय

D

घनीय

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


r+r=96200=0.48
त्रिज्या अनुपात (0.414 से 0.732) के बीच स्थित है, इसलिए ठोस में अष्टफलकीय संरचना होती है।

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    एक ठोस XY में NaCl संरचना है। यदि X+ की त्रिज्या 100 pm है, तो Y आयन की त्रिज्या कितनी है?

    A120 pm
    B136.6 से 241.6 pm
    C136.6 pm
    D241.6 pm
  • Question 1 - Select One

    ठोस AB में Zns प्रकार की संरचना है। यदि A+ आयन की त्रिज्या 22.5 pm है तो B की त्रिज्या क्या होगी?

    A100 pm
    B200 pm
    C150 pm
    D95 pm
  • Question 1 - Select One

    यदि पहली बोर कक्षा की त्रिज्या, x pm है, तब तीसरी कक्षा की त्रिज्या होगी:

    A(3×x)pm
    B(6×x)pm
    C(12×x)pm
    D(9×x)pm
  • Question 1 - Select One

    षट्पसहसंयोजी संकुलों के अणु सूत्र दिए गए है (A) CoCl3.6NH3, (B) CoCl3.5NH3, ( C) CoCl3.4NH3 यदि (A), (B) और (C) में NH3 अणुओं की उपसहसंयोजन संख्या क्रमश: 6, 5 और 4 है, तब (A), (B) और (C) में प्राथमिक संयोजकता हैं-

    A3,3,3
    B0,1,2
    C3,2,1
    D6,5,4
  • Question 1 - Select One

    NH4Cl एकक कोष्ठिका 387 pm कोर की लम्बाई के साथ काय-केन्द्रित घनीय जालक में क्रिस्टलीकृत होता है | यदि Cl आयन कि त्रिज्या | 81 pm हो, तब NH4 आयन के लिए त्रिज्या क्या होगी ?

    A154.1 pm
    B92.6 pm
    C366.3 pm
    Dइनमे से कोई नही
  • Question 1 - Select One

    H2 और Cl2 अणुओं में अंतरापरमाणुक दूरी क्रमश: 74 और 198 pm हैं। HCl की बंध लंबाई है:

    A124 pm
    B248 pm
    C272 pm
    D136 pm
  • Question 1 - Select One

    CxHy कार्बन और हाइड्रोजन की दहन की ऊष्माएँ क्रमश: a, b और c cal हैं। CxHy की संभवन ऊष्मा होगी:

    A(xb+yc2a2)cal
    B(xb+yc2a)cal
    C(xb+yc2+a2)cal
    D(xbyc2a2)cal

Similar Questions