Doubtnut Promotions Sticky

सोडियम क्रोमेट के पीले रंग का जलीय विलयन जब सल्फ्यूरिक अम्ल के साथ अम्लीकृत होता है, तो नारंगी रंग में परिवर्तित हो जाता है क्योंकि

A

H+ आयन, क्रोमेट आयनों को डाइक्रोमेट आयनों में परिवर्तित करते हैं।

B

H+ आयन, सोडियम क्रोमेट के साथ अभिक्रिया करके सोडियम आयन का निर्माण करते हैं जो कि विलयन को नारंगी रंग में परिवर्तित कर देते हैं

C

विलयन में Cr3+ आयन मुक्त होते हैं जो विलयन को नारंगी रंग में परिवर्तित कर देते हैं

D

अभिक्रिया के दौरान सोडियम हाइड्रॉक्साइड का निर्माण होता है, जो विलयन को नारंगी रंग प्रदान करता है

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A


2Na2CrO4 ि+2H+Na2Cr2O7 ि+2Na++H2O

Was this answer helpful?988
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions