Doubtnut Promotions Sticky

एक अच्छे ऊष्मारोधी पात्र में एक गैस को 2.50 L के प्रारम्भिक आयतन से 4.50 L के अंतिम आयतन तक 2.5 atm के स्थिर बाह्य दाब के विरुद्ध प्रसारित होने दिया जाता है | गैस की आतंरिक ऊर्जा में परिवर्तन ΔU जूल में कितना होगा ?

A

500 J

B

505J

C

+505J

D

1136.25J

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


जैसा कि q=0 इसलिए, उष्मागतिकी के प्रथम नियम से ΔU=p.ΔV
=2.5(4.52.5)=5 lit atm
=5×101.3=506.5 जूल
=505J

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    एक गैस 200 J ऊष्मा को अवशोषित करती है और 2×105°Nm2 के नियत दाब के विरुद्ध 500cm3 तक प्रसारित होती है। गैस की आंतरिक ऊर्जा में परिवर्तन क्या होगा?

    A200J
    B100J
    C+100J
    D+200J
  • Question 1 - Select One

    गैस का एक नमूना 0 .1 atm के स्थिर दाब के विरुद्ध 1 लीटर संकुचित होता है,
    जबकि 5 .13 j ऊष्मा परिवेश में विलुप्त हो जाती है ।
    निकाय की आंतरिक ऊर्जा U में परिवर्तन है-

    A10.26 J
    B5.0 J
    C5.64 J
    D4.0 J
  • Question 1 - Select One

    300K पर एक समतापीय प्रक्रम में, एक आदर्श गैस का 1 मोल 50 atm के बाह्य दाब के विरुद्ध 100 atm दाब से प्रसारित होता है | तब प्रक्रम में कुल एन्ट्रापी (Cal K1)

    A+0.39
    B0.39
    C+1.59
    D1.59
  • Question 1 - Select One

    एक बंद ऊष्मारोधी पात्र में एक द्रव को इसके तापमान को बढ़ाने के लिए एक छड़ की सहायता से विडोलित किया जाता है। इस प्रक्रम में निम्नलिखित में से कौन सा सही है?

    AΔE=W=Q=0
    BΔE=W0,Q=0
    CΔE=W0,Q=0
    DΔE=Q0,W=0
  • Question 1 - Select One

    गैस के एक नमूने का तापमान 127C से 527C तक बढ़ा दिया जाता है। गैस की औसत गतिज ऊर्जा:

    Aपरिवर्तित नहीं होती है
    Bदोगुनी हो जाती है
    Cआधी हो जाती है
    Dपरिकलित नहीं की जा सकती
  • Question 1 - Select One

    27°C पर एक आदर्श गैस के 5 मोल, 5 L से 50 L आयतन तक समतापीय और उत्क्रमणीय रूप से प्रसारित होते हैं। निकाय द्वारा किया गया कार्य है:

    A14.7kJ
    B28.72kJ
    C27.72kJ
    D56.72kJ
  • Question 1 - Select One

    एक गैस को 0.50 atm के बाह्य दाब के विरुद्ध 1.0 L से 10.1 L आयतन तक नियत तापमान पर प्रसारित होने दिया जाता है। यदि गैस परिवेश से 250 J ताप अवशोषित करती है, तो q, w और ΔE के मान क्या हैं? (दिया गया है, 1 L = atm = 101.0 J)

    Aocr_image
    Bocr_image
    Cocr_image
    Docr_image
  • Question 1 - Select One

    एक स्थिर दाब पर 20 L नाइट्रोजन के ताप में 10 K से 30 K तक की वृद्धि की गई। आयतन में परिवर्तन होगा:

    A20 L
    B40 L
    C60 L
    D80 L
  • Question 1 - Select One

    300 K ताप पर, एक आदर्श गैस का एक मोल, परिवेश के साथ तापीय संपर्क में, 3.0 atm के नियत दाब के विरुद्ध 1.0 L से 2.0 L तक समतापीय रूप से प्रसारित होता है, इस प्रक्रम में, परिवेश की एन्ट्रॉपी में परिवर्तन (ΔSिJK1) में है:

    A5.763
    B1.013
    C1.013
    D5.763
  • Question 1 - Select One

    गैस के दाब के साथ ठोस की सतह पर गैसों के अधिशोषण के लिए निम्नलिखित में से सही परिवर्तन है

    Aमंद - तीव्र - दाब से स्वतंत्र
    Bतीव्र – मंद - दाब से स्वतंत्र
    Cदाब से स्वतंत्र - तीव्र – मंद
    Dदाब से स्वतंत्र – मंद – तीव्र