Doubtnut Promotions Sticky

जब अभिकारक की प्रारंभिक सांद्रता दोगुनी की जाती है, तो शून्य कोटि अभिक्रिया की अर्ध आयु

A

तिगुनी हो जाती है

B

दोगुनी हो जाती है

C

आधी हो जाती है

D

अपरिवर्तित रहती है

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


शून्य कोटि अभिक्रिया की अर्ध आयु
t1/2=[A0]2k अर्थात, t1/2a या (A0) प्रारंभिक सांद्रता को दोगुना करने पर t1/2 का मान दोगुना हो जाएगा।

Was this answer helpful?122
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions