Doubtnut Promotions Sticky

अभिक्रियाPCl5(g)PCl3(g)+Cl2(g) के लिए: स्थिर ताप पर अग्र अभिक्रिया किस स्थिति में अनुकूलित होती है?

A

स्थिर आयतन पर अक्रिय गैस का योजन

B

स्थिर आयतन पर क्लोरीन गैस का योजन

C

स्थिर दाब पर अक्रिय गैस का योजन

D

इनमे से कोई नहीं

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:C


Pcl5(g)
साम्यावस्था पर मोल ax
Kc=x2(ax)V
स्थिर आयतन पर Δn=0 या Delta n canceln0 वाली अभिक्रियाओं पर अक्रिय गैस के योग से कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन स्थिर दाब पर Delta n cancel ne 0 वाली अभिक्रियाओं पर अक्रिय गैस के योग का प्रभाव पड़ता है और यदि Δn=0 है, तब कोई प्रभाव नहीं पडता है। दी गई अभिक्रिया में Delta n cancel ne 0 है, स्थिर दाब पर अक्रिय गैस के योग से आयतन बढ़ता है। Kc स्थिरांक के लिए, X में वृद्धि होनी चाहिए।

Was this answer helpful?598
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions