Doubtnut Promotions Sticky

कोबाल्ट के समन्वय संकुल के अणुसूत्र में एक कोबाल्ट परमाणु के लिए पांच अमोनिया अणु, एक नाइट्रो समूह और दो क्लोरीन परमाणु होते है। इस यौगिक का एक मोल, जलीय विलयन में तीन मोल आयनों का उत्पादन करता है। इस विलयन की अभिक्रिया सिल्वर नाइट्रेट विलयन के आधिक्य के साथ करने पर, AgCl के दो मोल अवक्षेपित हो जाते हैं। इस संकुल का आयनिक सूत्र होगा|

A

[Co(NH3)4].[(NH3)Cl]

B

[(Co(NH3)5Cl],[Cl(NO2)]

C

[Co(NH3)5(NO2)]Cl2

D

[Co(NH3)5].[(NO2)2Cl2]

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:C


[Co(NH3)5NO2]Cl2[Co(NH3)5NO2]2++2Cl, AgCl के दो मोल निर्मित होते हैं, इस प्रकार दो Cl परमाणु समन्वय मण्डल के बाहर उपस्थित होते हैं।

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    विलेय के एक मोलल जलीय विलयन में विलेय का मोल प्रभाज है:

    A0.018
    B0.027
    C0.036
    D0.048
  • Question 1 - Select One

    संकुल यौगिक Co(NH3),Cl3 का एक मोल जल में घोलने पर आयनों के 3 मोल देता है। समान संकुल का एक मोल, AgNO3 विलयन के दो मोल के साथ अभिक्रिया करके AgCI(s) के दो मोल देता है। संकुल की संरचना है :

    A[Co(NH3)3Cl3]2NH3
    B[CO(NH3)4Cl2]Cl.NH3
    C[Co(NH3)4Cl]Cl2.NH3
    D[Co(NH3)5Cl]Cl2
  • Question 1 - Select One

    CoCl3.5NH3 के एक मोल वाले जलीय विलयन में मुक्त क्लोराइड आयनों के अवक्षेपण के लिए सिल्वर नाइट्रेट विलयन के 2 मोल का उपभोग किया जाता है। यौगिक का सूत्र होना चाहिए:

    A[Co(NH3)5Cl]Cl2
    B[Co(NH3)6Cl2]Cl
    C[Co(NH3)4Cl3]NH3
    D[Co(NH3)3Cl3]
  • Question 1 - Select One

    क्लोरीन गर्म और सांद्रित NaOH के साथ अभिक्रिया करता है और यौगिक (X) और (Y) का उत्पादन करता है। यौगिक (X) सिल्वर नाइट्रेट विलयन के साथ सफेद अवक्षेप देता है। (Y) में Cl और 0 परमाणुओं के बीच औसत बंध कोटि ----- है:

    A1.67
    B0.835
    C2.67
    D2
  • Question 1 - Select One

    संकुल CrCl36H2O के 0.1M विलयन के 100 ml को AgNO3 के आधिक्य के साथ उपचारित करने पर AgCl का 4.305g प्राप्त हुआ। संकुल है-

    A[Cr(H2O)3Cl3]3H2O
    B[Cr(H2O)4Cl2]Cl2H2O
    C[Cr(H2O)5Cl]Cl2H2O
    D[Cr(H2O)6]Cl3
  • Question 1 - Select One

    जब pH = 6 के एक जलीय विलयन को pH = 3 के जलीय विलयन के समान आयतन के साथ मिश्रित किया जाता है, तो निर्मित परिणामी विलयन का pH क्या है?

    A3.3
    B4.3
    C4.0
    D4.5
  • Question 1 - Select One

    अम्लीय विलयन में एक मोल सल्फाइट आयन के साथ अभिक्रिया करने के लिए आवश्यक
    KMnO4 के मोलो की संख्या है :

    A25
    B1
    C45
    D35
  • Question 1 - Select One

    X के 200 cc विलयन में [Co(NH3)5Br]Cl2 के 0.02 मोल और [Co(NH3)5Cl]SO4 के 0.02 मोल उपस्थित हैं। विलयन X को सिल्वर नाइट्रेट और बेरियम क्लोराइड के आधिक्य के साथ उपचारित करने पर निर्मित अवक्षेप Y और Z के मोलों की संख्या क्रमशः होगी:

    A0.02, 0.02
    B0.01, 0.02
    C0.02, 0.04
    D0.04, 0.02
  • Question 1 - Select One

    एक यौगिक (A) का उपयोग सॉल्वे प्रक्रम में अमोनिया की पुनः प्राप्‍ति के लिए धावन सोडा के विचरन में किया जाता है। जब CO2 को (A) के जलीय विखंडन में बुदबुदाया जाता है तो विलयन दूधिया हो जाता है। इसका उपयोग विसंक्रामक प्रकृति के कारण सफेदी में किया जाता है। A का रासायनिक सूत्र क्या होगा?

    ACa(HCO3)2
    BCaO
    CCa(OH)2
    DCaCO3
  • Question 1 - Select One

    Kl का आधिक्य, CuSO4 विलयन के साथ क्रिया करता है और तब Na2S2O3 विलयन को इसमें मिलाया जाता है। इस अभिक्रिया के लिए कौन सा कथन गलत है?

    Aमुक्त होने वाली I2अपचयित होती है
    BCuI2 निर्मित होता है
    CNa2S2O3ऑक्सीकृत होता है
    DCu2I2 निर्मित होता है