Doubtnut Promotions Sticky

परमाणु का नाभिक गोलाकार होता है। नाभिक की त्रिज्या और द्रव्यमान संख्या A के बीच संबंध 1.25×1013×A13cm द्वारा दिया गया है। यदि परमाणु की त्रिज्या एक A है और द्रव्यमान संख्या 64 है, तब नाभिक द्वारा ग्रहण किये गए परमाण्विक आयतन का प्रभाज (x)×1013 है। x की गणना कीजिए।

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A, B


नाभिक की त्रिज्या = 1.25×1013×A13=1.25×1013×6413=5×1013 cm
परमाणु की त्रिज्या = =1A=108cm
(" नाभिक का आयतन")/("परमाणु का आयतन") = (4/3 pi (5 xx 10^(-12))^(3))/(4/3 pi (10^(-8))^(2))
=1.25×1013

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    एक परमाणु, जिसके नाभिक की त्रिज्या 5.6 फर्मी (Rc=1.40×1023cm) है, उसकी द्रव्यमान संख्या है:

    A61
    B37
    C27
    D64
  • Question 1 - Select One

    हाइड्रोजन परमाणु की पहली कक्षा की त्रिज्या 0.52×108cm है। हीलियम परमाणु की पहली कक्षा की त्रिज्या है :

    A0.26×108cm
    B0.52×108cm
    C1.04×108cm
    D2.08×108cm
  • Question 1 - Select One

    एक धात्विक आयन M2+ का इलेक्ट्रॉन विन्यास 2, 8, 14 है और इसका द्रव्यमान 56 amu है। नाभिक में न्यूट्रॉन की संख्या है:

    A24
    B30
    C32
    D56
  • Question 1 - Select One

    निम्नलिखित वर्ग 13 के तत्वों की परमाणु त्रिज्या का बढ़ता क्रम है:

    AAI<Ga<In<TI
    BGa<AI<In<TI
    CAl<In<Ga<TI
    DAI<Ga<TI<In
  • Question 1 - Select One

    गैस का दिया गया द्रव्यमान अवस्था A से अवस्था B तक तीन पथ 1, 2 और 3 द्वारा प्रसारित होता है, जैसा कि चित्र में दिखाया गया है। यदि w1,w2 और w3 क्रमश: तीनों पथों के अनुदिश गैस द्वारा किया गया कार्य है, तो
    ocr_image

    Aw1>w2>w3
    Bw1<w2<w3
    Cw1=w2=w3
    Dw2<w3<w1
  • Question 1 - Select One

    रेडियो नाभिक 90234Th के दो क्रमिक β -क्षय के बाद एक -क्षय के माध्यम से एक नया रेडियो नाभिक प्राप्त किया जाता है। परिणामी रेडियो नाभिक का परमाणु क्रमांक और द्रव्यमान संख्या क्रमश: है:

    A92 और 23
    B94 और 230
    C90 और 230
    D92 और 230
  • Question 1 - Select One

    सक्रियण ऊर्जा की गणना के लिए log k बनाम 1/T के बीच का आरेख किसके द्वारा दिखाया गया है?

    Aocr_image
    Bocr_image
    Cocr_image
    Docr_image
  • Question 1 - Select One

    1.0 mg के द्रव्यमान वाले एक कण का वेग 3600 km/h है। कण के तरंग दैर्ध्य की गणना कीजिए।

    A6.626×1031 m
    B6.626×1030 m
    C6.626×1029 m
    D6.626×1028 m
  • Question 1 - Select One

    50% X (परमाणु द्रव्यमान = 10 amu) और 50% Y (परमाणु द्रव्यमान = 20 amu) युक्त यौगिक का सरलतम सूत्र है:

    AXY2
    BX2Y
    CX2Y3
    DXY3
  • Question 1 - Select One

    यदि एक घनाभ को 6 cm भुजा वाले घनोसे भरा जाता है तब कुल भरे जाने वाले घनो की संख्या ज्ञात कीजिए जबकि धनाभ की विमाए60×120×30cm दी गई है -

    A100
    B1000
    C200
    D50