Doubtnut Promotions Sticky

C4H10O3 अणुसूत्र वाला एक यौगिक, ऐसीटिल क्लोराइड की क्रिया द्वारा आण्‍विक द्रव्यमान 190 के एक यौगिक में परिवर्तित हो जाता है। प्रांरभिक यौगिक (C4H10O3) में कितने –OH समूह हैं?

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


ऐसीटिलीकरण में OH समूह के H का प्रतिस्थापन CH3CO- द्वारा होता है।
OH+ClOCCH3OCOCH3+HCl
अर्थात 1 amu द्रव्यमान का H परमाणु निकल जाता है। और 43 amu द्रव्यमान का ऐसीटिल समूह जुड़ जाता है। इस प्रकार प्रत्येक ऐसीटिल समूह के लिए 431=42 amu की शुद्ध लब्धिस होती है। अंतिम उत्पाद और प्रांरभिक यौगिक के द्रव्यमान का अंतर190106=84है
अतः –OH समूहों की संख्या =8442=2 है।

Doubtnut Promotions Banner
|
Updated on:21/07/2023

Similar Practice Problems

  • Question 1 - Select One

    एरोमैटिक यौगिक C8H10 के समावयवियों की संख्या है :

    A3
    B4
    C2
    D5
  • Question 1 - Select One

    180 आण्विक द्रव्यमान वाले एक यौगिक का, 300 आण्विक द्रव्यमान वाले एक यौगिक को प्राप्त करने के लिए, CHICOCl के साथ एसीलीकरण किया जाता है। पूर्व यौगिक में प्रति अणु उपस्थित एमीनो समूहों की संख्या है:

    A1
    B3
    C5
    D4
  • Question 1 - Select One

    अणुसूत्र C3H9N वाला एक यौगिक (X), C6H5SO2Cl के साथ अभिक्रिया करके एक ठोस का निर्माण करता है, जो क्षार में अविलेय है। (x) है:

    ACH3CH2CH2NH2
    BCH3NHCH2CH3
    CCH3NHCH2CH3
    DCH3CHCH3NH2
  • Question 1 - Select One

    अणु सूत्र C3H6O का एक कार्बनिक यौगिक, 2, 4डाइनाइट्रोफेनिलहाइड्राजोन का निर्माण करता है, लेकिन ऋणात्मक टॉलेन का परीक्षण देता है। यौगिक है:

    ACH2=CHCH2OH
    BCH3CH2CHO
    CCH3COCH3
    DCH2=CHOCH3
  • Question 1 - Select One

    एक कार्बनिक यौगिक (CXHYOZ में C और H के द्रव्यमान प्रतिशत का अनुपात 6:1 हैं यदि उपरोक्त यौगिक (CXHYOZ) के एक अणु में उपस्थित ऑक्सीजन, यौगिक CXHY के एक अणु को पूण्रतया CO2 और H2O में जलाने के लिए आवश्यक ऑक्सीजन की आधी है तो यौगिकCXHYOZ का मूलानूपाती सूत्र है:

    AC2H4O3
    BC3H6O3
    CC2H4O
    DC3H4O2
  • Question 1 - Select One

    सल्फर के एक यौगिक में द्रव्यमान द्वारा 8% सल्फर उपस्थित होता है। यौगिक के न्यूनतम आण्विक द्रव्यमान की गणना कीजिए।

    A300
    B400
    C200
    D255
  • Question 1 - Select One

    C(3)H6O अणु सूत्र का एक यौगिक (X), बाइसल्फेट संकुल का निर्माण करता है, आयोडोफॉर्म परीक्षण देता है, लेकिन टॉलेन अभिकर्मक को अपचयित नहीं करता है।
    (X), CH3MgBr/H3o के साथ अभिक्रिया पर एक यौगिक (Y) देता है, जो नहीं दे सकता है:

    AA सीरियम अमोनियम नाइट्रेट (CAN) के साथ लाल रंग
    Bल्यूकास अभिकर्मक के साथ तुरंत सफेद मटमैलापन
    Cआयोडोफॉर्म परीक्षण
    Dगर्म Cu के साथ अभिक्रिया द्वारा एल्कीन में निर्जलीकरण
  • Question 1 - Select One

    अणुसूत्र C7H8O वाले ऐरोमैटिक यौगिक के लिए समावयवियों की कुल संख्या कितनी होगी?

    A2
    B3
    C4
    D5
  • Question 1 - Select One

    जब एक निश्चित ताप पर 3c-2e के साथ-साथ 2c 2e बंध वाला एक अकार्बनिक यौगिक (X), अमोनिया गैस के साथ अभिक्रिया करता है, तो बेन्जीन के समान संरचना वाले यौगिक (Y) का निर्माण होता है। उच्च ताप पर यौगिक (X), अमोनिया के साथ एक पदार्थ (Z) का उत्पादन करता है। निम्न में से कौनसा विकल्प सही नहीं है?

    A(X),B2H6 है
    B(Z) अकार्बनिक ग्रेफाइट के रूप में जाना जाता है
    C(Y),B3N3H6 है
    D(Z) ग्रेफाइट की तरह नरम होता है

Similar Questions