Doubtnut Promotions Sticky

दो दुर्बल अम्लों के वियोजन स्थिरांक क्रमश: Ka1 और Ka2 हैं। उनकी समान सांद्रता की आपेक्षिक सामर्थ्य है|

A

Ka2Ka1

B

(Ka1Ka2)12

C

Ka1Ka2

D

(Ka1Ka2Ka1)12

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


ओस्टवाल्ड के तनुता नियम को लागू करने पर,
a1=Ka1c or a2=Ka2c
इस प्रकार, आपेक्षिक सामर्थ्य = I || =a1a2=(Ka1Ka2)

Was this answer helpful?530
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions