Doubtnut Promotions Sticky

एक काय केंद्रित घनीय जालक का निर्माण B के खोखले गोलों से किया गया है। ठोस A के गोले, B के खोखले गोलों में उपस्थित है। A की त्रिज्या, B की त्रिज्या की आधी है। एकक कोष्ठिका में, A द्वारा अनअधिधारित B के गोलों के कुल आयतन और एकक कोष्ठिका के आयतन का अनुपात क्या है?

A

29π364

B

7π364

C

19π364

D

2π364

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


एकक कोष्ठिका में उपस्थित B के परमाणुओं की प्रभावी संख्या = 2 एकक कोष्ठिका में A द्वारा अनअधिधारित B का कुल आयतन
2×43(R3r3)×π
एकक कोष्ठिका का आयतन =a3
(4R3)3=6433r3(3a=4R)
एकक कोष्ठिका में A द्वारा अनअधिधारित B के कुल आयतन और एकक कोष्ठिका के आयतन का अनुपात =7/3πR36433R3=7π364

Was this answer helpful?426
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions