Doubtnut Promotions Sticky

एक प्रकाश की किरण एक समबाहु प्रिज्म (अपवर्तनांक =1.5) में से इस प्रकार गुजरती है कि उसका आपतन कोण निर्गमनकोण के बराबर हो तथा निर्गमन कोण प्रिज्म के 34 कोणों के तो उसका विचलन कोण है-

A

45

B

39

C

20

D

30

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:D


आपतन = निर्गमन कोण, अत: यह न्यूनतम विचलन की
δm=(μ1)A=(1.51)×60=30

Was this answer helpful?654
Doubtnut Promotions Banner
Updated on:21/07/2023

Similar Questions