Doubtnut Promotions Sticky

सुरभि किसी भी ऐसे शब्द विशेष को बोलने में कठिनाई अनुभव करती है जिसमें दो से अधिक बार 'त' की आवृत्ति हुई हो। आप उससे/उसे:

A

ऐसे शब्दों को बार-बार सुनने के लिए कहेंगी।

B

बोलते समय इस ओर ध्यान न देने के लिए कहेंगी

C

'त' वाले शब्दों का बार-बार उच्चारण करवाएँगी

D

ऐसे शब्दों का विकल्प ढूँढ़कर देंगी।

Video Solution
Doubtnut Promotions Banner
Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A


सुनना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। इसके माध्यम से बच्चों में शुद्ध उच्चारण करने के कौशल का विकास होता है। सुनने के माध्यम से ही बच्चा बोलने में आने वाली उच्चारण सम्बन्धी अशुद्धियों को दूर करने में सफल हो पाता है।

|
Updated on:21/07/2023

Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    जिन बच्चों को लिखने में कठिनाई का अनुभव होता है, वे बच्चे ...... से ग्रस्त हो सकते हैं।

    Aडिस्ग्राफिया
    Bडिस्लेक्सिया
    Cडिस्केलकुलिया
    Dमन्दबुद्धिता
  • Question 1 - Select One

    आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली रूबीना लिखने में बेहद कठिनाई का अनुभव करती है। संभव है कि वह से ग्रसित हो।

    Aभाषाघात
    Bडिस्केलकुलिया
    Cडिस्लेक्सिया
    Dडिस्पाफिया
  • Question 1 - Select One

    हमारे जीवन में उत्साह का विशेष स्थान है। किसी काम को करने के लिए सदा तैयार रहना तथा उस काम को करने में आनन्द अनुभव करना उत्साह का प्रमुख लक्षण है। उत्साह कई प्रकार का होता है परन्तु सच्चा उत्साह वही होता है जो मनुष्य को कार्य करने के लिए प्रेरणा दें। मनुष्य किसी भी कारणवश जब किसी के कष्ट को दूर करने का संकल्प करता है तब जिस सुख को वह अनुभव करता है वह सुख विशेष रूप से प्रेरणा देने वाला होता है। इसी उत्साह के लिए कहा भी गया है, 'साहस से भरी हुई उमंग का उत्साह है जिस भी कार्य को करने के लिए मनुष्य में कष्ट, दुख या हानि को सहन करने की ताकत आती है, उन सबसे उत्पन्न आनंद ही उत्साह कहलाता है। दान देने वाला व्यक्ति अपने भीतर एक विशेष साहस रखता है और वह है धन-त्याग का साहस। यही त्याग यदि मनुष्य प्रसन्नता के साथ करता है तो उसे उत्साह से किया गया दान कहा जाएगा। इसी प्रकार युद्ध क्षेत्र में वीरता दिखाने वाले तथा दया के लिए वीरता दिखाने वाले भी अपने-अपने क्षेत्र में उत्साह का कार्य करने वाले हैं।
    वीरता' शब्द का विलोम है-

    Aशूरता
    Bकायरता
    Cनिर्भीकता
    Dअधिकता
  • Question 1 - Select One

    हमारे जीवन में उत्साह का विशेष स्थान है। किसी काम को करने के लिए सदा तैयार रहना तथा उस काम को करने में आनन्द अनुभव करना उत्साह का प्रमुख लक्षण है। उत्साह कई प्रकार का होता है परन्तु सच्चा उत्साह वही होता है जो मनुष्य को कार्य करने के लिए प्रेरणा दें। मनुष्य किसी भी कारणवश जब किसी के कष्ट को दूर करने का संकल्प करता है तब जिस सुख को वह अनुभव करता है वह सुख विशेष रूप से प्रेरणा देने वाला होता है। इसी उत्साह के लिए कहा भी गया है, 'साहस से भरी हुई उमंग का उत्साह है जिस भी कार्य को करने के लिए मनुष्य में कष्ट, दुख या हानि को सहन करने की ताकत आती है, उन सबसे उत्पन्न आनंद ही उत्साह कहलाता है। दान देने वाला व्यक्ति अपने भीतर एक विशेष साहस रखता है और वह है धन-त्याग का साहस। यही त्याग यदि मनुष्य प्रसन्नता के साथ करता है तो उसे उत्साह से किया गया दान कहा जाएगा। इसी प्रकार युद्ध क्षेत्र में वीरता दिखाने वाले तथा दया के लिए वीरता दिखाने वाले भी अपने-अपने क्षेत्र में उत्साह का कार्य करने वाले हैं।
    उत्साह का सच्चा लक्षण है

    Aकाम करने के लिए सदा तैयार रहना,
    Bकाम करने के लिए प्रेरणा देना,
    Cकाम करने में आनंद अनुभव करना,
    Dकाम में सुख को अनुभव करना
  • Question 1 - Select One

    हमारे जीवन में उत्साह का विशेष स्थान है। किसी काम को करने के लिए सदा तैयार रहना तथा उस काम को करने में आनन्द अनुभव करना उत्साह का प्रमुख लक्षण है। उत्साह कई प्रकार का होता है परन्तु सच्चा उत्साह वही होता है जो मनुष्य को कार्य करने के लिए प्रेरणा दें। मनुष्य किसी भी कारणवश जब किसी के कष्ट को दूर करने का संकल्प करता है तब जिस सुख को वह अनुभव करता है वह सुख विशेष रूप से प्रेरणा देने वाला होता है। इसी उत्साह के लिए कहा भी गया है, 'साहस से भरी हुई उमंग का उत्साह है जिस भी कार्य को करने के लिए मनुष्य में कष्ट, दुख या हानि को सहन करने की ताकत आती है, उन सबसे उत्पन्न आनंद ही उत्साह कहलाता है। दान देने वाला व्यक्ति अपने भीतर एक विशेष साहस रखता है और वह है धन-त्याग का साहस। यही त्याग यदि मनुष्य प्रसन्नता के साथ करता है तो उसे उत्साह से किया गया दान कहा जाएगा। इसी प्रकार युद्ध क्षेत्र में वीरता दिखाने वाले तथा दया के लिए वीरता दिखाने वाले भी अपने-अपने क्षेत्र में उत्साह का कार्य करने वाले हैं।
    उत्साह का प्रमुख लक्षण क्या है ?

    Aजोश
    Bसाहस
    Cआनंद
    Dआनंद और जोश
  • Question 1 - Select One

    हमारे जीवन में उत्साह का विशेष स्थान है। किसी काम को करने के लिए सदा तैयार रहना तथा उस काम को करने में आनन्द अनुभव करना उत्साह का प्रमुख लक्षण है। उत्साह कई प्रकार का होता है परन्तु सच्चा उत्साह वही होता है जो मनुष्य को कार्य करने के लिए प्रेरणा दें। मनुष्य किसी भी कारणवश जब किसी के कष्ट को दूर करने का संकल्प करता है तब जिस सुख को वह अनुभव करता है वह सुख विशेष रूप से प्रेरणा देने वाला होता है। इसी उत्साह के लिए कहा भी गया है, 'साहस से भरी हुई उमंग का उत्साह है जिस भी कार्य को करने के लिए मनुष्य में कष्ट, दुख या हानि को सहन करने की ताकत आती है, उन सबसे उत्पन्न आनंद ही उत्साह कहलाता है। दान देने वाला व्यक्ति अपने भीतर एक विशेष साहस रखता है और वह है धन-त्याग का साहस। यही त्याग यदि मनुष्य प्रसन्नता के साथ करता है तो उसे उत्साह से किया गया दान कहा जाएगा। इसी प्रकार युद्ध क्षेत्र में वीरता दिखाने वाले तथा दया के लिए वीरता दिखाने वाले भी अपने-अपने क्षेत्र में उत्साह का कार्य करने वाले हैं।
    दानी व्यक्ति किस प्रकार का साहस दिखाता है ?

    Aकष्ट सहन करने का साहस
    Bधन को त्यागने का साहस,
    Cहानि को सहन करने का साहस,
    Dप्रसन्न रहने का साहस
  • Question 1 - Select One

    हमारे जीवन में उत्साह का विशेष स्थान है। किसी काम को करने के लिए सदा तैयार रहना तथा उस काम को करने में आनन्द अनुभव करना उत्साह का प्रमुख लक्षण है। उत्साह कई प्रकार का होता है परन्तु सच्चा उत्साह वही होता है जो मनुष्य को कार्य करने के लिए प्रेरणा दें। मनुष्य किसी भी कारणवश जब किसी के कष्ट को दूर करने का संकल्प करता है तब जिस सुख को वह अनुभव करता है वह सुख विशेष रूप से प्रेरणा देने वाला होता है। इसी उत्साह के लिए कहा भी गया है, 'साहस से भरी हुई उमंग का उत्साह है जिस भी कार्य को करने के लिए मनुष्य में कष्ट, दुख या हानि को सहन करने की ताकत आती है, उन सबसे उत्पन्न आनंद ही उत्साह कहलाता है। दान देने वाला व्यक्ति अपने भीतर एक विशेष साहस रखता है और वह है धन-त्याग का साहस। यही त्याग यदि मनुष्य प्रसन्नता के साथ करता है तो उसे उत्साह से किया गया दान कहा जाएगा। इसी प्रकार युद्ध क्षेत्र में वीरता दिखाने वाले तथा दया के लिए वीरता दिखाने वाले भी अपने-अपने क्षेत्र में उत्साह का कार्य करने वाले हैं।
    गद्यांश का उचित शीर्षक चुनें

    Aउत्साह का आनंद,
    Bउत्साह
    Cउत्साह का महत्व,
    Dउत्साह का स्वरूप और महत्व
  • Question 1 - Select One

    एक तीन साल के बच्चे से किसी भी ऐसे विषय पर बातचीत की जा सकती हैं, जो उसके दायरे में आता हो।

    Aसंज्ञानात्मक
    Bसामाजिक
    Cभावनात्मक
    Dसांस्कृतिक
  • Question 1 - Select One

    एक तीन साल के बच्चे से किसी भी ऐसे विषय पर बातचीत की जा सकती हैं, जो उसके दायरे में आता हो।

    Aसंज्ञानात्मक
    Bसामाजिक
    Cभावनात्मक
    Dसांस्कृतिक
  • Question 1 - Select One

    सुरभि अकसर 'ड' वाले शब्दों को गलत तरीके से उच्चारित करती है। भाषा शिक्षक के रूप में आप क्या करेंगे?

    Aउसे 'ड' वाले शब्दों की सूची पढ़ने एवं बोलकर अभ्यास करने के लिए देंगे।
    Bउसे 'ड' वाले शब्दों की सूची पढ़ने एवं लिखकर अभ्यास करने के लिए देंगे।
    Cउसे 'ड' वाले शब्दों को अपने पीछे-पीछे दोहराने के लिए कहेंगे।
    Dउसे सहजता के साथ अपनी बात कहने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।