Doubtnut Promotions Sticky

कथन डेविसन - जर्मर प्रयोग में, इलेक्ट्रॉन पुँज से सम्बद्ध तरंगदैर्ध्य इलेक्ट्रॉन की गति बढ़ने के साथ - साथ कम होती जाती है।
कारण डेविसन - जर्मर प्रयोग में, इलेक्ट्रॉन पुँज से सम्बद्ध तरंगदैर्ध्य का मान होता है λ=h2mK

A

कथन और कारण दोनों सत्य है तथा कारण , कथन का सत्य स्पष्टीकरण है।

B

कथन और कारण दोनों सत्य है परन्तु कारण , कथन का सत्य स्पष्टीकरण नहीं है

C

कथन सत्य है, परन्तु कारण असत्य है।

D

कथन असत्य है, परन्तु कारण सत्य है।

Video Solution
Doubtnut Promotions Banner
Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A


इन डेविसन जर्मर प्रयोग में, इलेक्ट्रॉन पुँज तरंगदैर्ध्य,
λ=h2mK
जहाँ, K गतिज ऊर्जा है तथा m इलेक्ट्रॉन का द्रव्यमान है।

|
Updated on:21/07/2023

Related Playlists


Similar Questions