Doubtnut Promotions Sticky

(अ) उदाहरण देकर समझाइये -
(i) संतृप्त हाइड्रोकार्बन (ii) असंतृप्त हाइड्रोकार्बन
(ब) कार्बन परमाणु की दो विशेषताएँ

Video Solution
Doubtnut Promotions Banner
Text Solution
Verified by Experts

(अ) (i) संतृप्त हाइड्रोकार्बन - ऐसे हाइड्रोकार्बन यौगिक जिनमें कार्बन परमाणुओं के मध्य उपस्थित सभी बांध एकल बांध हो , उन्हें संतृप्त हाइड्रोकार्बन या एल्केन कहते है | इनका सामान्य सूत्र C n H 2 n + 2 होता है | जैसे - मेथेन , ( C H 4 ) एथेन ( C 2 H 6 ) , प्रोपेन ( C 3 H 8 ) , ब्यूटेन ( C 4 H 10 ) आदि।
(ii) असंतृप्त हाइड्रोकार्बन - ऐसे हाइड्रोकार्बन यौगिक जिनमें कार्बन परमाणुओं के मध्य द्विबंध पाये जाते है , उन्हें असंतृप्त हाइड्रोकार्बन कहते हैं। ये दो प्रकार के हैं -
(क ) एल्कीन - इनमें कार्बन परमाणुओं के मध्य द्विबंध पाया जाता है। इन्हें ओलिफीन भी कहते हैं क्योंकि ये ब्रोमीन जल से क्रिया करके तैलीय द्रव बनाते हैं। इनका सामान्य सूत्र ( C n H 2 n ) , होता है। जैसे - एथीन ( C 2 H 4 ) , प्रोपेन ( C 3 H 6 ) ब्यूटीन ( C 4 H 8 )
(ख) एल्काइन - कार्बन परमाणुओं के मध्य त्रिबंध पाया जाता है। इनका सामान्य सूत्र C 2 H 2 n - 2 होता है। जैसे - एथाइल ( C 2 H 2 ) , प्रोपाइन , ( C 3 H 4 ) ब्यूटाइन ( C 4 H 6 )
(ब) कार्बन परमाणु की प्रमुख विशेषताएँ हैं -
(i) चतुष्संयोजकता - कार्बन का परमाणु क्रमांक 6 एवं विन्यास 1 s 2 , 2 s 2 , 2 p 2 है। दूसरे कोष में चार इलेक्ट्रॉन होने के कारण यह 4 संयोजकता प्रदर्शित करता है और एक संयोजी तत्व के चार परमाणुओं से चार सहसंयोजक बंध बनाता है। यह अपनी चार संयोजकताओ से एकल बंध या त्रिबंध भी बन सकता है।
(ii) श्रृंखलन - कार्बन परमाणु आपस में जुड़कर लम्बी श्रृंखलाओं वाले यौगिक बना सकते हैं। ये श्रृंखलाएँ शाखित , अशाखित , चक्रीय या अचक्रीय हो सकते हैं।

Was this answer helpful?340
Updated on:21/07/2023

Similar Questions