Doubtnut Promotions Sticky

गोलीय दर्पणों के लिए कार्तीय चिह्न परिपाटी को समझाइये |

Video Solution
Doubtnut Promotions Banner
Text Solution
Verified by Experts

गोलीय दर्पणों के लिए कार्तीय चिह्न परिपाटी - गोलीय दर्पणों से परावर्तन के लिए कार्तीय चिह्न परिपाटी का प्रयोग किया जाता है | इसमें दर्पणों के ध्रुव P को मूल पर मानते हैं | दर्पण के मुख्य अक्ष को निर्देशांक पद्धति का X अक्ष लिया जाता है | यह परिपाटी निम्न प्रकार है -
(i) बिम्ब दर्पण के बायीं ओर रखा जाता है | अतः u का मान सदैव ऋणात्मक होगा |
(ii) मुख्य अक्ष के समान्तर सभी दूरियाँ दर्पण के ध्रुव मापी जाती है |
(iii) मुख्य अक्ष के समान्तर मूल बिंदु से दूरियाँ धनात्मक ली जाती हैं तथा बायीं ओर की दूरियाँ ऋणात्मक ली जाती हैं |
(iv) मुख्य अक्ष के लम्बवत ऊपर की ओर दूरियाँ धनात्मक तथा मुख्य अक्ष के लम्बवत नीचे की ओर मापी जाने वाली दूरियाँ ऋणात्मक ली जाती है |
ocr_image

Was this answer helpful?484
Updated on:21/07/2023

Related Playlists


Similar Questions