Doubtnut Promotions Sticky

किसी बल क्षेत्र में कण की स्थतिज ऊर्जा है -
U=Ar2Br
जहाँ A तथा B धनात्मक नियतांक तथा r कण की बल क्षेत्र के केंद्र से दुरी है। स्थायी संतुलन की दिशा में कण की दुरी है -

A

B2A

B

2AB

C

AB

D

BA.

Video Solution
Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


U=Ar2Br, स्थायी संतुलन के लिए,
F=dUdr=0
ddr(Ar1Br1)=0
2Ar3+lr2B=0
2Ar=B
r=2AB.

|
Updated on:21/07/2023

Topper's Solved these Questions


Similar Questions