doubtnut_header_logo_white_new

एक मीनार की जमीन पर छाया की लम्बाई उसकी ऊंचाई के बराबर है। तब सूर्य का उन्नयन कोण बराबर है-

adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased

Updated On: 27-06-2022

लिखित उत्तर

A
30
B
45
C
60
D
90
Answer
The correct Answer is B

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Transcript

नमस्कार दोस्तों हमें हमेशा वाले हम से कह रहे एक मीनार की जमीन पर छाया की लंबाई उसकी ऊंचाई के बराबर है तो सूर्य का उन्नयन कोण बताना है तो मीनार की छाया पीना और छाया की बात करें तो हम ले लेते हैं यह हमारा एक मीनार है और नीचे उसकी छाया बनी हुई है एबी हमारा मीनार हो गया अब बीपी उसकी छाया हो गई हमसे कह रहा है कि मीनार की जमीन पर छाया की लंबाई उसकी ऊंचाई के बराबर है तो हम मान लेते हैं छाया की जो लंबाई है वह मरी एक्स मीटर होगी और यह उचाई हमारी मीनारें भी की होगी दोनों की लंबाई हम को दे दी है एक्समीटर यदि 1 मीटर है और दूसरी व्यक्ति मीटर है तो हम को बोल रहा है कि सूर्य का उन्नयन कोण कितना होगा सूर्य का उन्नयन कोण निकालने के लिए हम मान लेते हैं उनको उनको हमारा एलफाइन कुल कितना हो गया सवाल हल करते हैं त्रिभुज ए बी में कुछ पीएपी में टाइप करके मानोगे नंबर के आधार यानी कि बर्थडे टीवी ए
बी का मान कितना दिया है में एक बीवी का मांगी हमको दिया है ऐसी अमर आओगे टेन अल्फा कमांड चैनल पकवान कितना गया चैनल फॉर बराबर एक जोक इस का मन होता है 10 तारीख अमर किस का मन होता है 45 इंच का इस तरह से यहां पर 45 रन से आ गया 10 सितंबर हटे गा तो ऐसा बराबर कितना आ जाएगा 432 चूड़ी से बनने वाले उनको हमारा क्या हो जाएगा उनको हमारा आएगा 45 में यही हमारा उत्तर है आशा करते आपको समझ में आया होगा धन्यवाद
Related Videos
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि एक दीर्घवृत्त की दीर्घ अक्ष की लम्बाई, उसके लघु अक्ष की लम्बाई की तिगुनी है, तो उसकी उत्केन्द्रता होगी

358825705

8.1K02:04

यदि एक दीर्घवृत्त की दीर्घ अक्ष की लम्बाई, उसके लघु अक्ष की लम्बाई की तिगुनी है, तो उसकी उत्केन्द्रता होगी
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक घन के विकर्ण की लम्बाई 123 सेमी है। घन के कोर की लम्बाई .............होगी।

407372327

8.2K01:18

एक घन के विकर्ण की लम्बाई 123 सेमी है। घन के कोर की लम्बाई .............होगी।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
किसी वृत्त में एक चाप केन्द्र पर 45का कोण बनाता है। यदि चाप की लम्बाई 11 सेमी है तो वृत्त की त्रिज्या ज्ञात कीजिए।

407372252

11K02:01

किसी वृत्त में एक चाप केन्द्र पर 45का कोण बनाता है। यदि चाप की लम्बाई 11 सेमी है तो वृत्त की त्रिज्या ज्ञात कीजिए।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
जब 'r त्रिज्या का एक हवा का बुलबुला किसी झील की तली से सतह तक उठता है तो उसकी त्रिज्या 5r/4 हो जाती है (वायुमण्डलीय दाब जल स्तम्भ की 10 मीटर की ऊंचाई के बराबर है)। यदि ताप नियत है तथा पृष्ठ तनाव को उपेक्षणीय माना गया है, तो झील की गहराई है

540836192

2.6K04:25

जब 'r त्रिज्या का एक हवा का बुलबुला किसी झील की तली से सतह तक उठता है तो उसकी त्रिज्या 5r/4 हो जाती है (वायुमण्डलीय दाब जल स्तम्भ की 10 मीटर की ऊंचाई के बराबर है)। यदि ताप नियत है तथा पृष्ठ तनाव को उपेक्षणीय माना गया है, तो झील की गहराई है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक वृत्त के अंतर्गत बने समबहुभुज की प्रत्येक भुजा केंद्र पर 45 का कोण बनाती है| बहुभुज का नाम दीजिए |

408035137

4.9K03:05

एक वृत्त के अंतर्गत बने समबहुभुज की प्रत्येक भुजा केंद्र पर 45 का कोण बनाती है| बहुभुज का नाम दीजिए |
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि एक अतिपरवलय के संयुग्मी अक्ष (conjugate axis) की लम्बाई 5 है तथा इसकी नाभियो के बीच की दुरी 13 है, तो इस अतिपरवलय की उत्केंद्रता है

334964535

8.8K03:33

यदि एक अतिपरवलय के संयुग्मी अक्ष (conjugate axis) की लम्बाई 5 है तथा इसकी नाभियो के बीच की दुरी 13 है, तो इस अतिपरवलय की उत्केंद्रता है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक परवलय के नाभिलम्ब का समीकरण x+y=8 तथा उसके शीर्ष पर स्पर्शी का समीकरण x+y=12 है, तो उसके नाभिलम्ब की लम्बाई है :

226119684

4.5K03:23

एक परवलय के नाभिलम्ब का समीकरण x+y=8 तथा उसके शीर्ष पर स्पर्शी का समीकरण x+y=12 है, तो उसके नाभिलम्ब की लम्बाई है :
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक वृत्त के अंतर्गत बने समबहुभुज की प्रत्येक भुजा केंद्र पर 36 का कोण बनाती है| बहुभुज की भुजाओं की संख्या ज्ञात कीजिए |

408035130

4.7K02:30

एक वृत्त के अंतर्गत बने समबहुभुज की प्रत्येक भुजा केंद्र पर 36 का कोण बनाती है| बहुभुज की भुजाओं की संख्या ज्ञात कीजिए |
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
माना एक ऊर्ध्वाधर मीनार AB ऐसी है कि उसका सिरा A भूमि पर है। माना AB का मध्य-बिन्दु C है और भूमि पर स्थित बिन्दु P ऐसा है कि AP=2AB यदि BPC=β है, तो tanβ बराबर है

334963493

6.6K05:05

माना एक ऊर्ध्वाधर मीनार AB ऐसी है कि उसका सिरा A भूमि पर है। माना AB का मध्य-बिन्दु C है और भूमि पर स्थित बिन्दु P ऐसा है कि AP=2AB यदि BPC=β है, तो tanβ बराबर है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक झील से 25 मी ऊपर एक बिन्दु P से एक बदल का उन्नयन कोण 30 है तथा P से झील में बादल के प्रतिबिम्ब का अवनमन कोण 60 है, तो झील की सतह से बादल की ऊंचाई (मीटर में) है

334964747

4.8K04:42

एक झील से 25 मी ऊपर एक बिन्दु P से एक बदल का उन्नयन कोण 30 है तथा P से झील में बादल के प्रतिबिम्ब का अवनमन कोण 60 है, तो झील की सतह से बादल की ऊंचाई (मीटर में) है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि किसी घन का आयतन 125cm3 है, तो उसकी भुजा की लम्बाई क्या होगी?

644707331

6.4K01:42

यदि किसी घन का आयतन 125cm3 है, तो उसकी भुजा की लम्बाई क्या होगी?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक अतिपरवलय बिन्दुओं (3,2) तथा (-17,12) से गुजरता है और उसका केंद्र मूलबिन्दु पर है तथा अनुप्रस्थ अक्ष x- अक्ष है। अतिपरवलय की अनुप्रस्थ अक्ष की लम्बाई है।

358825777

4K02:42

एक अतिपरवलय बिन्दुओं (3,2) तथा (-17,12) से गुजरता है और उसका केंद्र मूलबिन्दु पर है तथा अनुप्रस्थ अक्ष x- अक्ष है। अतिपरवलय की अनुप्रस्थ अक्ष की लम्बाई है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक परवलय की नाभि मूलबिंदु पर है तथा रेखा x=2 परवलय की नियता है , तो परवलय का शीर्ष है

127305133

5K02:10

एक परवलय की नाभि मूलबिंदु पर है तथा रेखा x=2 परवलय की नियता है , तो परवलय का शीर्ष है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि एक दीर्घवृत्त जिसका केंद्र मूलबिंदु पर है, के दीर्घ कक्ष तथा लघु कक्ष कि लम्बाइयों का अंतर 10 है तथा एक नाभिकेन्द्र (0,53) पर है, तो इसके नाभिलम्ब की लम्बाई है

334963624

1.1K03:14

यदि एक दीर्घवृत्त जिसका केंद्र मूलबिंदु पर है, के दीर्घ कक्ष तथा लघु कक्ष कि लम्बाइयों का अंतर 10 है तथा एक नाभिकेन्द्र (0,53) पर है, तो इसके नाभिलम्ब की लम्बाई है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
माना एक दीर्घवृत्त जिसका दीर्घ -अक्ष, X-अक्ष के अनुदिश है तथा केन्द्र मूलबिंदु पर है, के नाभिलम्ब की लम्बाई 8 है । यदि दीर्घवृत्त की नाभियो के बीच की दुरी, इसके लघु-अक्ष की लम्बाई के समान हो, तो निम्न में से कौन-सा बिन्दु इस पर स्थित है?

334964539

7.8K04:06

माना एक दीर्घवृत्त जिसका दीर्घ -अक्ष, X-अक्ष के अनुदिश है तथा केन्द्र मूलबिंदु पर है, के नाभिलम्ब की लम्बाई 8 है । यदि दीर्घवृत्त की नाभियो के बीच की दुरी, इसके लघु-अक्ष की लम्बाई के समान हो, तो निम्न में से कौन-सा बिन्दु इस पर स्थित है?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि वक्रों y=10x2 तथा y=2+x2 के बीच एक प्रतिच्छेदन बिन्दु पर न्यून कोण θ है , तो |tanθ| बराबर है

334964137

7.3K02:51

यदि वक्रों y=10x2 तथा y=2+x2 के बीच एक प्रतिच्छेदन बिन्दु पर न्यून कोण θ है , तो |tanθ| बराबर है