logo
search
search
user
login
Login

p नाइट्रोफीनॉल का क्वथनांक o-नाइट्रोफीनॉल से अधिक है, क्योंकि

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 29-1-2021

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

camera

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!
check-circle

लिखित उत्तर

 `NO_(2)`, समूह, p स्थान तथा o-स्थान पर अलग-अलग व्यवहार करता हैp-नाइट्रोफीनॉल में अन्त, आण्विक हाइड्रोजन आबन्ध प्रकट होता है p-नाइट्रोफीनॉल में अन्तर आण्विक हाइड्रोजन आबन्ध होते हैं p-नाइट्रोफोनॉल का अणु भार o नाइट्रोफीनॉल की तुलना में अधिक होता है

Answer :
C
Solution :
o-नाइट्रोफीनॉल में बेन्जीन वलय पर स्थित –OH समूह तथा —`NO_(2)` अत्यन्त समीप -स्थान पर) होने के कारण अन्तः अणुक (अन्तराणुक) हाइड्रोजन आबन्ध बनाते हैं। <br> परन्तु नाइट्रोफीनॉल में -OH तथा `NO_(2)` समूह, बेन्जीन वलय में क्रमश:`C_(1)` तथा `C_(4)`, स्थानों पर होते हैं, जिससे वे अन्तः अणुक हाइड्रोजन आबन्ध के स्थान पर निकटतम् स्थित अन्य p-नाइट्रोफीनॉल के साथ अन्तर-अणुक हाइड्रोजन बना लेते है। परिणामस्वरूप -नाइट्रोफिनॉल के अणुओं के मध्य आकर्षण बल प्रबल हो जाता है तथा pनाइट्रोफीनॉल का क्वथनांक o-नाइट्रोफीनॉल से अधिक हो जाता है। <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/ARH_HIN_31Y_NEET_CHE_SP_C04_E01_058_S01.png" width="80%">

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details