Home

>

English

>

Class 10

>

Hindi

>

Chapter

>

साखी

>

ईश्वर कण-कण में व्याप्त है पर ...

ईश्वर कण-कण में व्याप्त है पर हम उसे क्यों नहीं देख पाते?

Text Solution

Solution : ईश्वर कण-कण में व्याप्त है पर हम उसे उसी प्रकार नहीं देख पाते हैं जैसे कस्तूरी मृग अपनी नाभि में स्थित कस्तूरी को ढूँढ़ नहीं पाता और वह वन-वन (जंगल-जंगल) में खोजता फिरता है।

adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased