निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही नहीं है?

A

[Ni(CN)4]2 और [Ni(CO)4] का चुंबकीय आघूर्ण समान है।

B

[NiCl4]2 और [PtCl4]2 की आकृतियाँ भिन्न होती हैं।

C

[Co(Ox)3]3 में Co की संकरण अवस्था sp3d2 है।

D

भूरी वलय संकुल, [Fe(H2O)5NO]SO4 में Fe की ऑक्सीकरण अवस्था +1 है।

Updated on:21/07/2023
ADVERTISEMENT
Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:C


[Co(Ox)3]3
Co3+=[Ar]4s03d6
ocr_image
संकरण [Ni(CN)4]2 और [Ni(CO)4] में चुंबकीय आघूर्ण शून्य होता है, क्योंकि इनमें कोई अयुग्मित इलेक्ट्रॉन नहीं है।
[NiCl4]2 और [PtCl(4)]2 की आकृतियाँ भिन्न होती हैं जो क्रमश: चतुष्फलकीय और वर्ग समतलीय हैं। भूरी वलय संकुल, [Fe(H2O)5NO]SO4 में Fe की ऑक्सीकरण अवस्था +1 है, क्योंकि NO को यहाँ +1 के रूप में लिया जाता है।

Was this answer helpful?360