जब ऐल्किल हैलाइड की सांद्रता तीन गुना हो जाती है और नाभिकरागी की सांद्रता आधी हो जाती है, तो SN2 अभिक्रिया की दर बढ़ जाती है:

A

3 गुना

B

1.5 गुना

C

2 गुना

D

6 गुना

Updated on:21/07/2023
ADVERTISEMENT
Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


Sn2 अभिक्रिया की दर इस प्रकार है:
दर = [ऐल्किल हैलाइड] × [नाभिकरागी]
दर (प्रारंभ में) =[C1][C2] नई सांद्रता पर
दर (अंतिम में) =[3C1](C22)
=1.5x[C1][C2]
दर (अंतिम में)=1.5× (प्रारंभ)

Was this answer helpful?512

Similar Questions