Doubtnut Promotions Sticky

इलेक्ट्रॉनस्नेही प्रतिस्थापन अभिक्रियाओं में एल्किल हैलाइडों की अपेक्षा एरिल हैलाइड कम अभिक्रियाशील होते हैं। इसका कारण है

A

कम स्थायी कार्बोनियम आयन (carbonium ion) का बनना

B

अनुनाद स्थायीकरण

C

अधिक लम्बे कार्बन हैलोजन बन्ध

D

प्रेरण प्रभाव

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B

|
Updated on:21/07/2023

Similar Questions


Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    नाभिकरागी प्रतिस्थापन अभिक्रियाओं के प्रति निम्नलिखित में से कौनसा क्रियात्मक समूह सामान्य रूप से सबसे कम अभिक्रियाशील है?

    Aएमाइड
    Bएस्टर
    Cअम्ल क्लोराइड
    Dअम्ल एनहाइड्राइड
  • Question 2 - Select One

    श्यामला केवल उन्हीं प्रश्नों के उत्तर लिखती है जो उसने याद किए होते हैं। इसका कारण हो सकता है:

    Aउसकी स्मरण-शक्ति बहुत तेज है
    Bउसकी विचार-प्रक्रिया अव्यवस्थित है
    Cउसमें कल्पनाशीलता जैसे गुण का अभाव है
    Dउसकी कक्षा में सब ऐसा ही करते हैं
  • Question 3 - Select One

    श्यामला केवल उन्हीं प्रश्नों के उत्तर लिखती है जो उसने याद किए होते हैं। इसका कारण हो सकता है:

    Aउसमें काल्पनाशीलता जैसे गुण का अभाव है
    Bउसकी कक्षा में सब ऐसा ही करते हैं
    Cउसकी विचार-प्रक्रिया अव्यवस्थित है
    Dउसकी स्मरण -शक्ति बहुत तेज़ है