Doubtnut Promotions Sticky

कथन-1 स्थिर ताप तथा दाब पर, किसी प्रक्रम में होने वाली मुक्त ऊर्जा में होने वाली कमी इसकी स्वत: परवर्तिता की माप है
कथन-2 : एक स्वत: परवर्तित प्रक्रम के लिए ΔSsystem का मान धनात्मक है

A

यदि दोनों कथन सत्य है कथन-2, कथन-1 की सही व्याख्या करता है।

B

यदि दोनों कथन सत्य है किन्तु कथन-2, कथन-1 की सही व्याख्या नहीं करता है।

C

यदि कथन-1 सत्य है किन्तु कथन-2 असत्य है।

D

यदि कथन-1 असत्य है किन्तु कथन-2 सत्य है।

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:C

|
Updated on:21/07/2023

Similar Questions


Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    निम्नलिखित में से कौन सा कथन साम्यावस्था की स्थिति में एक उत्क्रमणीय प्रक्रम के लिए सही है?

    AΔG=2.303 RT log K
    BΔG =- 2 3.3 RT log K
    CΔG=2.303RTlogK
    DΔG=2.3033RTlogK
  • Question 2 - Select One

    गतिक साम्य में दोनों दिशाओं में अभिक्रिया एक ही दर से होती है और साम्य के दोनों ओर द्रव्यमान किसी भी परिवर्तन से नहीं गुजरता है। यह अवस्था केवल तभी प्राप्त की जा सकती है जब ΔGका मान

    Aधनात्मक हो
    Bऋणात्मक हो
    Cशून्य हो
    Dइनमें से कोई भी मान हो सकता है
  • Question 3 - Select One

    निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर उसके नीचे दिये गये बहुविकल्पी प्रश्नों में सही विकल्प का चयन करें।
    'डारविन' का कहना है कि प्रत्येक प्राणी में यह मूल लक्षण पाया जाता है कि वह अपनी शक्तिभर अपनी रक्षा करता है तथा अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए अपने वातावरण की पूर्ति करता है। इसी इच्छा से परिचालित हो वह अपने अस्तित्व को कायम रखने की चेष्टा करता है तथा अपने विकास-क्षेत्र को फैलाता रहता है। दनिया में खाद्य सामग्री का परिमाण सीमित है,पर खाने वाले प्राणियों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती रहती है। अतएव विभिन्न प्राणियों में खाद्य-सामग्री के लिए संघर्ष होने लगता है। इस संघर्ष में जो प्राणी वातावरण के अनुकूल सबसे उपयुक्त तथा शक्तिशाली रहते हैं, उनकी विजय होती है तथा जो शक्तिहीन है, उनका विनाश। जब एक सींगवाले तथा उसी तरह के बिना सींग वाले जानवर के बीच संघर्ष होता है तो उस संघर्ष में सींग वाले जानवर की विजय होती है, क्योंकि वातावरण के अनुकूल इसमें सींग का विकास हो गया है। अतएव वह बिना सींग वाले जानवर की अपेक्षा अधिक शक्तिशाली तथा उपयुक्त है। 'डारविन' के अनुसार प्राणियों के इस संघर्ष में उपयुक्त तथा शक्तिशाली प्राणी की ही जीत होती है तथा उनका ही अस्तित्व कायम रहता है। शक्तिहीन प्राणियों का विनाश हो जाता है। 'डारविन' के इस सिद्धांत को शक्तिशालियों का अस्तित्व कायम रहना कहते
    दुनिया में कौन-सी वस्तु सीमित मात्रा में है?

    Aप्राणियों की संख्या
    Bप्राणियों की आवश्यकताएं
    Cखाद्य-सामग्री की मात्रा
    Dशक्तिशाली प्राणियों की संख्या