Doubtnut Promotions Sticky

एक आदर्श गैस 2.0 वायुमण्डल बाह्य दाब के विरुद्ध 20 लीटर से 40 लीटर तक प्रसार करती है तथा परिवेश से 10 किलो जूल ऊष्मा अवशोषित करती है। निकाय की आन्तरिक ऊर्जा में होने वाला परिवर्तन है:
(दिया है : 1 वायुमण्डल लीटर =101.3 जूल)।

A

4052 जूल

B

5948 जूल

C

14052 जूल

D

9940 जूल

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B


ΔU=q+w
=10×10002×(20)×101.3=5948 जूल

|
Updated on:21/07/2023

Similar Questions


Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    गैस का एक नमूना 0 .1 atm के स्थिर दाब के विरुद्ध 1 लीटर संकुचित होता है,
    जबकि 5 .13 j ऊष्मा परिवेश में विलुप्त हो जाती है ।
    निकाय की आंतरिक ऊर्जा U में परिवर्तन है-

    A10.26 J
    B5.0 J
    C5.64 J
    D4.0 J
  • Question 2 - Select One

    एक गैस को 0.50 atm के बाह्य दाब के विरुद्ध 1.0 L से 10.1 L आयतन तक नियत तापमान पर प्रसारित होने दिया जाता है। यदि गैस परिवेश से 250 J ताप अवशोषित करती है, तो q, w और ΔE के मान क्या हैं? (दिया गया है, 1 L = atm = 101.0 J)

    Aocr_image
    Bocr_image
    Cocr_image
    Docr_image
  • Question 3 - Select One

    300 K पर एक आदर्श गैस 105Nm2 के नियत दाब के विरुद्ध 103m3 से 102m3 तक प्रसारित होती है। इस पर किया गया कार्य है:

    A0.9kJ
    B9kJ
    C900kJ
    D90kJ