Doubtnut Promotions Sticky

500 मिली के दो पलास्कों में 300K व 1 वायुमण्डल दाब पर क्रमशः O2SO2 भरी गयी है। फ्लास्क में:

A

परमाणुओं की संख्या समान है

B

अणुओं की संख्या समान है

C

A में मोलों की संख्या B से अधिक है

D

गैसों की बराबर मात्राएँ हैं।

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:B

|
Updated on:21/07/2023

Similar Questions


Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    जल के एक मोल को इसके क्वथनांक 100C और '1' वायुमंडलीय दाब पर वाष्प में परिवर्तित किया जाता है। इस प्रक्रम के लिए, निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है?

    AΔS=0
    BΔG=0
    CΔH=0
    DΔE=0
  • Question 2 - Select One

    अभिक्रिया 2NO(g)+Br2(g)<2NOBr(g) के लिए 25C पर साम्य स्थिरांक 160atm1 के बराबर है। यदि फ्लास्क में 25C पर NO,Br2 और NOBrका आंशिक दाब क्रमशः 0.01, 0.1 और 0.04 है। यह कहा जा सकता है कि:

    Aफ्लास्क में साम्यावस्था है।
    Bअभिक्रिया अग्र दिशा में होगी
    Cअभिक्रिया पश्च दिशा में होगी
    Dअंततः NOBr का आंशिक दाब 0.05 atm होगा
  • Question 3 - Select One

    298K पर, शुद्ध द्रवों A और B के वाष्प दाब क्रमशः 400 और 600 mm Hg है। दो द्रवों को मिलाने पर, उनके प्रारंभिक आयतन का योग अंतिम मिश्रण के आयतन के बराबर होता हैं मिश्रण में द्रव B का मोल प्रभाज 0.5 हे। अंतिम विलयन का वाष्प दाब, वाष्प प्रावस्था में घटकों A और B के मोल प्रभाज क्रमशः है:

    A500 mm Hg, 0.5, 0.5
    B450 mm Hg, 0.4, 0.6
    C450 mm Hg, 0.5, 0.5
    D500 mm Hg, 0.4, 0.6