Doubtnut Promotions Sticky

किसी परमाणु के I, II तथा II ऊर्जा स्तरों की ऊर्जाएँ क्रमशः E,4E3 तथा 2E है। II से I में होने वाले संक्रमण में उत्सर्जित विकिरण की तरंगदैर्ध्य λ है। II से I संक्रमण में उत्सर्जित विकिरण की तरंगदैर्ध्य क्या है?

A

λ2

B

λ

C

2λ

D

3λ

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:D


II से I संक्रमण के लिए
Δ=4E3E=hcλIII,E3=hcλIII
III से I संक्रमण के लिए
ΔE=2EE=hcλ या E=hcλ
hc3×λ=hcλIIIλIII=3λ

|
Updated on:21/07/2023

Similar Questions


Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    एक उत्तेजित हाइड्रोजन परमाणु मूल अवस्था में लौटता है। उत्सर्जित फोटॉन की तरंगदैर्ध्य λ है। उत्तेजित अवस्था की मुख्य क्वान्टम संख्या होगी:

    A[λRλR1]1/2
    B[λR+1λR]1/2
    C[λR(λR1)]1/2
    D[1λR(λR+1)]1/2
  • Question 2 - Select One

    यदि हाइड्रोजन परमाणु में इलेक्ट्रॉन तृतीय कक्षा से द्वितीय कक्षा में जाता है, तो उत्सर्जित विकिरण की तरंगदैर्ध्य दी जाती है:

    Aλ=365R
    Bλ=5R36
    Cλ=5R
    Dλ=R6
  • Question 3 - Select One

    कौन सा आलेख दर्शाता है कि प्रकाश के फोटॉन की ऊर्जा E इसकी तरंग दैर्ध्य λ से कैसे संबंधित है?

    Aocr_image
    Bocr_image
    Cocr_image
    Docr_image