Doubtnut Promotions Sticky

FeO तथा Fe2O3 का एक मिश्रण 0.25 M अम्लीकृत KMnO4 के 100 मिली के साथ क्रिया करता है। प्राप्त विलयन को Zn चूर्ण के साथ अभिकृत किया गया जिससे Fe3+ का Fe+ में अपचयन हो गया। Fe2+ आयनों के अनुमापन के लिए 0.10 MK,Cr2O7 के 1000 मिली की आवश्यकता हुई। मिश्रण में Fe2O3 की % मात्रा है:

A

80.85

B

19.15

C

50

D

89.41

Text Solution
Verified by Experts

The correct Answer is:A


FeO के मिली तुल्याँक =KMnO4 के मिली तुल्याँक
0.25×5×100
FeO के मिली मोल (n = 1) =0.25×100×51
=125
Fe2+ के कुल मिली तुल्याँक या मिली मोल =1000×0.1×6=600
(FeO, Fe2O3 से Zn चूर्ण की क्रिया के पश्चात्)
Fe2+ के मिली मोल ( Fe2O3 से) = 600 - 125
= 475
Fe2O3 के मिली मोल =4752
FeO का द्रव्यमान = 125×(56+16)1000 ग्राम = 9 ग्राम
Fe2O3 का द्रव्यमान = 4752×1601000=38 ग्राम
Fe2O3 की % =3838+9×100=80.85%

|
Updated on:21/07/2023

Similar Questions


Knowledge Check

  • Question 1 - Select One

    अम्लीय माध्यम में, मोहर लवण और Fe2(SO4)3 के मिश्रण के 4 मोल के पूर्ण ऑक्सीकरण के लिए 1 M, K2Cr2O7 के 500 ml की आवश्यकता होती है। मिश्रण में मोहर लवण का मोल% है:

    A25
    B50
    C60
    D75
  • Question 2 - Select One

    1 M NaOH विलयन के 2.5 लीटर को अन्य 0.5 M NaOH विलयन के 3 लीटर के साथ मिलाया जाता है। परिणामी विलयन की मोलरता है -

    A1 M
    B0.84 M
    C0.73 M
    D0.56 M
  • Question 3 - Select One

    Kl का आधिक्य, CuSO4 विलयन के साथ क्रिया करता है और तब Na2S2O3 विलयन को इसमें मिलाया जाता है। इस अभिक्रिया के लिए कौन सा कथन गलत है?

    Aमुक्त होने वाली I2अपचयित होती है
    BCuI2 निर्मित होता है
    CNa2S2O3ऑक्सीकृत होता है
    DCu2I2 निर्मित होता है