logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 12PhysicsChapterनाभिक

यूरेनियम नाभिक (""_(92)^(238)"...

यूरेनियम नाभिक (""_(92)^(238)"U") कुछ रेडियोऐक्टिव विघटनों के उपरान्त स्थायी नाभिक लैड (""_(82)^(206)"Pb") में बदलता है | उत्सर्जित अल्फा तथा बीटा कणों की संख्या ज्ञात कीजिए |

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 8-5-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

1.2 K+

60

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
प्रश्नानुसार, `""_(92)^(238)"U"` से `""_(82)^(206)"Pb"` में बदलने पर द्रव्यमान क्रमांक में कमी `=238-206=32` होती है | <br> चूँकि एक अल्फा कण के उत्सर्जित से द्रव्यमान क्रमांक में 4 मात्रक की कमी आती है | अत: कुल उत्सर्जित अल्फा कणों की संख्या `=(32)/(4)=8` होगी | <br> अब 8 अल्फा कणों के उत्सर्जन से परमाणु क्रमांक में कमी `2xx8=16` होनी चाहिए, अर्थात यूरेनियम नाभिक का परमाणु क्रमांक 92 से घटकर `92-16=76` हो जाना चाहिए, लेकिन लैड का परमाणु क्रमांक 82 हो जाता है अर्थात परमाणु क्रमांक में वृद्धि `82-76=6` होती है | चूँकि एक बीटा कण के उत्सर्जन से परमाणु क्रमांक में वृद्धि 1 मात्रक होती है, अत: इस प्रक्रिया में उत्सर्जित बीटा कणों की संख्या = 6 होगी | <br> इस प्रकार सम्पूर्ण विघटन क्रिया में कुल 8 अल्फा कण तथा 6 बीटा कण उत्सर्जित होंगे |

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details