logo
search
search
user
login
Login

यद्यपि NH3 तथा H2O दोनों अणुओं की ज्यामिति विकृत चतुष्फलकीय होती है तथापि जल में आबन्ध कोण अमोनिया की अपेक्षा कम होता है । विवेचना कीजिए ।

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 27-9-2021

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

53.8 K+

50.1 K+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
अमोनिया में केन्द्रीय नाइट्रोजन परमाणु पर केवल एक इलेक्ट्रॉन एकाकी युग्म रहता है जबकि `H_(2)O` में केन्द्रीय ऑक्सीजन परमाणु पर इलेक्ट्रॉन के दो एकाकी युग्म होते है । ` H_(2)O` में ऑक्सीजन पर दो एकाकी युग्म की उपस्थिति होने के कारण आबन्ध युग्मो पर अधिक प्रतिकर्षण उत्पन्न होता है जिसके कारण ( एकाकी युग्म - आबन्ध युग्म प्रतिकर्षण `H_(2)O` में `NH_(3)` की अपेक्षा अधिक है ) बंध कोण अधिक संकुचित हो जाता है । इसकी कारण से जल में आबन्ध कोण अमोनिया की अपेक्षा कम होता है । <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/NTN_HIN_CHE_XI_P1_C04_E08_008_S01.png" width="80%">

संबंधित वीडियो

play
229920582

4.8 K+

96.2 K+

4:37
play
407372252

45.6 K+

147.2 K+

2:01
play
226118576

14.0 K+

279.5 K+

1:58
play
226118611

4.8 K+

95.2 K+

5:46
play
306255933

8.4 K+

40.4 K+

5:33
play
358827288

2.2 K+

43.7 K+

4:51
play
142060630

7.1 K+

142.6 K+

3:23
play
438125350

18.6 K+

35.9 K+

4:45
play
306954401

8.0 K+

19.4 K+

2:20
play
306956217

13.3 K+

266.0 K+

5:33
play
226117604

26.7 K+

534.3 K+

4:38
play
358825777

15.4 K+

307.8 K+

2:42
play
127305133

49.5 K+

478.4 K+

2:10
play
54862521

1.0 K+

20.9 K+

9:40
play
127304815

2.1 K+

42.2 K+

3:58

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details