logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 12PhysicsChapterप्रत्यावर्ती धारा

यदि आवेशित संधारित्र C को प्रे...

यदि आवेशित संधारित्र C को प्रेरक L में लघुपथित (Short circuited) किया जाए तो परिपथ में धारा सरल आवर्त गति करती है। <br>(i) किस रूप में संधारित्र और प्रेरक ऊर्जा को संगृहीत करती है?<br>(ii) दो कारण लिखिए जिनके कारण दोलन अवमंदित हो जाते है?

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 31-7-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

700+

37

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
(i) संधारित्र विद्युत ऊर्जा के रूप में एवं प्रेरक चुंबकीय ऊर्जा के रूप में ऊर्जा को संगृहीत करते हैं। <br>(ii) (a) प्रेरक में कुछ प्रतिरोध होता है जो आवेश और धारा पर अवमंदन प्रभाव डालता है। <br>(b) निकाय से विद्युत चुंबकीय तरंग के रूप में ऊर्जा का विकिरण होते रहता है।

संबंधित वीडियो

play
223424965

5.8 K+

116.0 K+

1:20
play
226118816

4.6 K+

92.8 K+

4:18
play
408028364

1.3 K+

25.8 K+

4:41
play
408028357

4.4 K+

88.8 K+

3:54
play
408029515

8.8 K+

176.3 K+

3:57
play
54862270

2.7 K+

54.4 K+

4:18
play
408035113

200+

4.4 K+

2:10
play
257787507

1.3 K+

25.9 K+

5:41
play
58124390

11.0 K+

219.8 K+

5:04
play
320059350

17.0 K+

340.3 K+

2:10
play
54862260

3.1 K+

62.2 K+

6:48
play
223424967

2.4 K+

48.5 K+

2:58
play
371319472

35

700+

1:58
play
320058040

2.9 K+

57.1 K+

4:11
play
223423852

9.1 K+

181.0 K+

3:48

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

नवीनतम वीडियो

Class 12th

प्रत्यावर्ती धारा

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details