logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 12PhysicsChapterविधुत धारिता

तीन सर्वसम ( एक - जैसे )संधारि...

तीन सर्वसम ( एक - जैसे )संधारित्रों को श्रेणीक्रम में संयोजित करने ( जोड़ने ) पर उनकी तुल्य ( कुल ) धारिता 1 mu F है | यदि उन्हें पाशर्वक्रम ( समांतर क्रम ) में संयोजित किया ( जोड़ा ) जाये, तो उनकी को धारिता कितनी होगी ? यदि दोनों दशाओं ( संयोजनों ) में संधारित्रों को एक ही स्त्रोत से जोड़ा जाये तो उन दो प्रकार के संयोजनों में संचित ऊर्जा का अनुपात ज्ञात कीजिए |

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 2-7-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

1.1 K+

55

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
माना की प्रत्येक संधरित्र की धारिता `C mu F` है | इसलिए श्रेणीक्रम में संयोजन की स्थिति में <br> `1/C_S = 1/C_1 + C_2 +1/C_3` से <br> `1/C_S = 1/C +1/C +1/C = 3/C` <br> दिया गया है - तुल्य धारिता `C_s = 1 mu F` <br> ` 1/1 = 3/C rArr C = 3 ` <br> तीनों संधारित्रों को समांतर क्रम संयोजन में जोड़ने पर तुल्य माना ( माना Cp ) है <br> ` C_P = C_1 + C_2 +C_3` से <br> ` = 3+3+3=9 mu F` <br> श्रेणीक्रम संयोजन में संचित ऊर्जा `U_s = 1/2 C_S V^2` <br> तथा समांतर क्रम संयोजन में संचित ऊर्जा <br>` U_P = 1/2 C_P V^2` <br> ` :." "U_S/U_P = (1/2 C_SV^2)/(1/2 C_PV^2) = C_S/C_P = 1/9`

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details