logo
search
search
user
login
Login

सोडियम परमाणु का प्रथम उत्तेजन विभव 2.1 वोल्ट है। इस परमाणु द्वारा उत्सर्जित प्रकाश की दीर्घतम तरंगदैर्घ्य ज्ञात कीजिए। (h=6.6xx10^(-34)" जूल-सेकण्ड तथा प्रकाश की चाल "c=3.0xx10^(8)" मीटर/सेकण्ड")

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 31-1-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

12.2 K+

600+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
परमाणु का प्रथम उत्तेजन विभव 2.1 वोल्ट है। इसका यह अर्थ है की परमाणु निम्नतम ऊर्जा-स्तर से अगले ऊर्जा-स्तर में जाने के लिए 2.1 इलेक्ट्रॉन वोल्ट (eV) ऊर्जा लेता है। यदि इस ऊर्जा-स्तर से वापस निम्नतम ऊर्जा-स्तर में लौटते समय परमाणु द्वारा उत्सर्जित प्रकाश की (दीर्घतम) तरंगदैर्घ्य `lambda` (आवृत्ति v) हो, तो क्वाण्टम सिद्धान्त के अनुसार, <br> `DeltaE="hv"="h c"//lambda` <br> जहाँ `DeltaE` इन दो ऊर्जा-स्तरों का अन्तर है। <br> यहाँ `DeltaE=2.1" eV"=2.1xx1.6xx10^(-19)" जूल।"` <br> `:.lambda=("h c")/(DeltaE)` <br> `=((6.6xx10^(-34" जूल-सेकण्ड")xx(3.0xx10^(8)" मीटर/सेकण्ड"))/(2.1xx(1.6xx10^(-19))"जूल"))` <br> `=5.893xx10^(-7)" मीटर "=5893Å.`

संबंधित वीडियो

play
76221742

3.6 K+

10.6 K+

2:22
play
76221753

2.0 K+

2.0 K+

7:18
play
76221749

500+

10.4 K+

4:19
play
76221391

500+

10.8 K+

6:04
play
94844805

2.6 K+

53.2 K+

play
76221762

400+

9.4 K+

6:23
play
76221775

800+

16.4 K+

5:14
play
76221756

700+

7.6 K+

4:14
play
156782199

5.5 K+

9.6 K+

2:04
play
156782195

100+

2.8 K+

2:42
play
131222585

1.9 K+

38.2 K+

4:06
play
131222584

22.3 K+

43.9 K+

3:59
play
156782894

3.4 K+

7.5 K+

5:11
play
95021895

6.2 K+

123.4 K+

2:17
play
226119389

1.1 K+

21.6 K+

2:10

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details