logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 12PhysicsChapterनाभिक

रेडियोन्यूक्लाइड ""_ 6 ^11C...

रेडियोन्यूक्लाइड ""_ 6 ^11C में क्षय निम्नलिखित समीकरण के अनुसार होता है | <br> ""_6^(11)C to ""_5^11B + e ^+ + v ( T _(1//2) = 20.3 मिनट ) <br> उत्सर्जित पॉजिट्रॉन ( e^+) की अधिकतम ऊर्जा 0.960 MeV है | यदि कार्बन एवं बोरॉन के परमाणुओं के द्रव्यमान <br> M ( ""_6^11 C) = 11.011434 u , M ( ""_5^11 B ) = 11.009305 u <br> तथा इलेक्ट्रॉन या पॉजिट्रॉन का द्रव्यमान <br> m _ e = 0.000548 u <br> हो , तो Q - मान (Q - value) की गणना करें तथा उत्सर्जित पॉजिट्रॉन की अधिकतम ऊर्जा से इसकी तुलना करे |

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 18-8-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

19.0 K+

900+

check-circle

लिखित उत्तर

Answer :
`._(6)^(11)Cto._(6)^(11)B+e^(+)+v+Q` <br> `Q=[M_(N)(._(6)^(11)C)-m_(N)(._(6)^(11)B)-m_(e)]c^(2)`. <br> यहां इंगित द्रव्यमान परमाणुओं के न होकर नाभिकों के हैं। यदि परमाण्वीय द्रव्यमानों को उपयोग करने के लिए हमें `.^(11)C` के लिए `6m_(e)` तथा `.^(11)B` के लिए `5m_(e)` द्रव्यमानों का और योग करना होगा । अतः <br> `Q=[m(._(6)^(11)C)-m(._(6)^(11)B)-2m_(e)]c^(2)` <br> दिए गए द्रव्यमानों के उपयोग से `Q=0.961MeV` <br> `Q=E_(d)+E_(e)+E_(v)` <br> विघटनज नाभिक `e^(+)` तथा v की तुलना में अधिक भारी है अतः विघटनज नाभिक की ऊर्जा नगण्य (`E_(d)~~O`) होती है। यदि न्यूट्रिानों की गतिज ऊर्जा `(E_(v)`) न्यूनतम (अर्थात शून्य) हो तो पॉजीट्रान की ऊर्जा अधिकतम होगी, जो व्यावहारिक रूप से `Q` के बराबर होगी अर्थात `E_(e)` का अधिकतम मान `Q` होगा।

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details