logo
search
search
user
login
Login

Home

>

Hindi

>

कक्षा 11

>

Chemistry

>

Chapter

>

तत्वों का आवर्ती वर्गीकरण

>

मैग्नीशियम के प्रथम, द्वितीय औ...

मैग्नीशियम के प्रथम, द्वितीय और तृतीय आयनन विभव क्रमशः 736.9, 1448.7 और 2545.6" kJ mol"^(-1) है। इसके कारण बताएँ।

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 26-6-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

4.7 K+

200+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
`{:(,Mg to Mg^(+)+e" "I_(1)=736.9kJ"mol"^(-1)),(,Mg^(+) to Mg^(2+)+e" "I_(2)=1448.7kJ"mol"^(-1)),(,Mg^(2+)to Mg^(3+)+e" "I_(3)=2545.6kJ"mol"^(-1)):}` <br> Mg परमाणु से एक इलेक्ट्रॉन के निकल जाने से प्रभावकारी नाभिकीय आवेश का मान बढ़ जाता है तथा `Mg^(+)` आयन का आकार Mg परमाणु से कम हो जाता है। इसीलिए द्वितीय आयनन विभव का मान प्रथम आयनन विभव से अधिक होता है। इसी प्रकार `Mg^(2+)` से तीसरे इलेक्ट्रॉन को निकालना और कठिन हो जाता है, क्योंकि `Mg^(2+)` का प्रभावकारी नाभिकीय आवेश `Mg^(+)` से अधिक किंतु उसका आकार `Mg^(+)` आयन से कम होता है। अतः `Mg^(2+)` का आयनन विभव `Mg^(+)` से अधिक होता है।

check-circle

चित्र समाधान

Find answer in image to clear your doubt instantly:

संबंधित वीडियो

play
226117714

900+

19.0 K+

2:56
play
95013894

200+

4.7 K+

4:07
play
226111630

19.1 K+

46.9 K+

5:38
play
226111628

3.8 K+

78.4 K+

3:57
play
234320309

3.5 K+

71.2 K+

7:15
play
58114633

265.9 K+

824.7 K+

2:06
play
226118641

11.9 K+

50.6 K+

6:31
play
128451732

500+

12.3 K+

8:39
play
226117781

200+

5.6 K+

7:08
play
320059113

1.6 K+

32.8 K+

6:56
play
320057565

3.7 K+

76.8 K+

3:33
play
320186411

5.2 K+

105.7 K+

4:21
play
226121368

8.7 K+

24.1 K+

1:23
play
127009894

2.3 K+

47.0 K+

4:40
play
320185712

1.6 K+

23.1 K+

2:28

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details