logo
search
search
user
login
Login
HomeHindiकक्षा 12PhysicsChapterऊष्मा एवं उष्मागतिकी

एक ठोस पिण्ड X जिसकी उष्माधारि...

एक ठोस पिण्ड X जिसकी उष्माधारिता C है, ताप T_(A)=300 केल्विन पर वायुमण्डल में रखा गया है | समय t = 0 पर X का ताप T_(0)=400 केल्विन है | यह न्यूटन के शीतलन नियम के अनुसार ठंडा होता है | समय t_(1) पर इसका ताप 350 केल्विन पाया जाता है | इस समय (t_(1)) पर पिण्ड X को एक चालक-छड़ के द्वारा वायुमणडल ताप पर एक बड़े बक्से Y से जोड़ दिया जाता है | चालक-छड़ की लम्बाई L परिच्छेद क्षेत्रफल A तथा ऊष्मा छलकता K है | Y की उष्माधारिता इतनी अधिक है कि इसके ताप में होने वाले परिवर्तन को नगण्य माना जा सकता है | जोड़ी जाने वाली छड़ का परिच्छेद क्षेत्रफल A पिण्ड X के पृष्ठ क्षेत्रफल की तुलना में बहुत कम है | समय t=3t_(1) पर पिण्ड X का ताप ज्ञात कीजिए |

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 8-9-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

1.3 K+

900+

check-circle

लिखित उत्तर

Answer :
`[300+12.5e^(-(2KAt_(1))/(CL))]` केल्विन
Solution :
प्रश्न के प्रथम भाग में `(t le t_(1))` <br> `t_(1)=0` पर, `T_(X)=T_(0)=400` केल्विन तथा `t=t_(1)` पर `T_(X)=T_(1)=350` केल्विन <br> वातावरण का ताप, `T_(A)=300` केल्विन (नियतांक) <br> न्यूटन के शीतलन के नियम के अनुसार यह शीतल हो जाएगा | <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/ARH_HIN_41Y_JEE_PHY_SP_C11_E08_028_S01.png" width="80%"> <br> शीतलन की दर `prop` तापान्तर <br> `therefore (-(dT)/(dt))=K(T-T_(A))rArr (dT)/(T-T_(A))=-K.dt` <br> या `int_(T_(0))^(T_(1))(dT)/(T-T_(A))=-K int_(0)^(t), dt` <br> या `ln((T_(1)-T_(A))/(T_(0)-T_(A)))=-Kt_(1)` <br> या `Kt_(1)=-ln ((350-300)/(400-300))` <br> या `Kt_(1)=log(2) " "` ....(i) <br> दूसरे भाग में , पिण्ड X विकिरण (Radiation) तथा चालन (Convection) द्वारा शीतलता प्रवाह करता है (न्यूटन के नियमानुसार) <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/ARH_HIN_41Y_JEE_PHY_SP_C11_E08_028_S02.png" width="80%"> <br> शीतलन की दर = विकिरण द्वारा शीतलन + चालन द्वारा शीतलन <br> `therefore (-(dT)/(dt))=K(T-T_(A))+(KA)/(CL)(T-T_(A))" "` ...(ii) <br> चालन में, `(dQ)/(dt)=(KA(T-T_(A)))/(L)=C (-(dT)/(dt))` <br> `therefore (-(dT)/(dt))=(KA)/(LC)(T-T_(A))` <br> जहाँ, C = X की उष्माधारिता <br> `(-(dT)/(dt))=(K+(KA)/(CL))(T-T_(A)) " "` ....(iii) <br> माना `t=3t_(1)`, पर X का ताप `T_(2)` है | <br> समी (iii) से, <br> `int_(T_(1))^(T_(2))(dT)/(T-T_(A))=-(K+(KA)/(LC))int_(t_(1))^(3t_(1))dt` <br> या `ln((T_(2)-T_(A))/(T_(1)-T_(A)))=-(K+(KA)/(LC))(2t_(1))` <br> `=-(2Kt_(1)+(2KA)/(LC)t_(1))` <br> या `ln((T_(2)-300)/(350-300))=-2 ln(2)-(2KAt_(1))/(LC)` <br> हल करने पर, `T_(2)=(300+12.5e^((-2KAt_(1))/(CL)))` केल्विन

संबंधित वीडियो

Show More

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details