logo
search
search
user
login
Login

C तथा 2C धारिता के दो समान्तर प्लेट संधारित्र समांतर क्रम में V वोल्ट बैटरी से जोड़े जाते हैं। अब बैटरी हटा ली जाती हैं तथा संधारित्र C की प्लेटों के बीच k परावैघुतांक का पदार्थ भर दिया जाता हैं। संधारित्रों की प्लेटों के बीच विभवांतर ज्ञात कीजिये।

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 22-2-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

15.7 K+

700+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
प्रारम्भ में, जब बैटरी जुडी हैं [चित्र] <br> माना संधारित्र C तथा 2C पर आवेश क्रमश: `q_(1)` or `q_(2)` हैं। अतः <br> `q_(1)=CV, q_(2)=2CV` <br> बैटरी हटा देने पर निकाय विलगित हो जाता हैं। अतः कुल आवेश नियत रहेगा। C की प्लेटों के बीच परावैघुत k रखने पर C की नई धारिता KC हो जाएगी। इस स्थति में [चित्र] <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/BLJ_HIN_PHY_XII_C02_E03_045_S01.png" width="80%"> <br> निकाय की कुल धारिता, <br> `=KC+2C=(K+2)C` <br> निकाय पर कुल आवेश, <br> `=q'_(1) + q'_(2)` <br> `=q_(1) +q_(2)=CV+2CV=3CV` <br> अतः अंतिम विभवांतर, <br> `V'=(कुल आवेश/कुल धारिता)=(3CV)/((K+2)C)=(3V)/(K+2)`

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details