logo
search
search
user
login
Login

Home

>

Hindi

>

कक्षा 11

>

Chemistry

>

Chapter

>

रासायनिक आबंधन एवं आण्विक संरचना

>

अनुनाद क्या है ? उदाहरण सहित स...

अनुनाद क्या है ? उदाहरण सहित समझाइये।

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 7-12-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

34.4 K+

1.7 K+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
जब किसी अणु को केवल एक ही संरचना द्वारा पूर्ण रूप से व्यक्त न किया जा सके अपितु अणु के अभिलाक्षणिक गुणों की व्याख्या दो या दो से अधिक विभिन्न संरचनाओं द्वारा की जाये तो इन सभी संभावित संरचना सूत्र को कैनोनिकल सूत्र कहते है तथा इस घटना को अनुनाद कहते है तथा इन सभी कैनोनिकल संरचना सूत्र का मध्यवर्ती सूत्र लिखने पर जो संरचना प्राप्त होती है , उसे अनुनादी संकर कहते है। विभिन्न अनुनादी सूत्रों को उनके बीच `hArr` का चिन्ह लगाकर प्रदर्शित किया जाता है। <br> अनुनाद संरचनाओं का कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता। वास्तव में अनुनाद का सिद्धांत एक काल्पनिक सिद्धांत है। अनुनाद के फलस्वरूप यौगिक की ऊजा में कमी आती है तथा स्थायित्व में वृद्धि होती है। अनुनाद संकर की ऊर्जा हमेशा विभिन्न अनुनाद संरचनाओं की ऊर्जा से कम होती है। <br> उदाहरण - कार्बन डाइऑक्साइड को सामान्यतः निम्न सूत्र द्वारा प्रदर्शित करते है - <br> ` O = C = O ` <br> इस सूत्र के आधार पर O व C के मध्य बंध लम्बाई `1* 22 Å` होनी चाहिये किन्तु वास्तविक बंध लम्बाई `1*15 Å` होती है जो कि द्विबंध और त्रिबंध के बीच में है तथा `CO_(2)` के बनने की संभवन ऊष्मा 300 kcal/mol होनी चाहिये किन्तु वास्तविक संभवन ऊष्मा 310 kcal/mol है। अतः `CO_(2)` के दो सूत्र हो सकते है। <br> `O = C = O hArr O^(+)-= C - O^(-) hArr O^(-) - C -= O^(+)` <br> अनुनाद के अन्य उदाहरण - कार्बोनेट आयन <br> <img src="https://d10lpgp6xz60nq.cloudfront.net/physics_images/YUG_HIN_CHE_XI_SP_C04_E03_007_S01.png" width="80%"> <br> अनुनाद के लिये आवश्यक शर्तें - (1) विभिन्न अनुनादी संरचनाओं में विभिन्न परमाणु की स्थिति लगभग समान रहनी चाहिय। केवल उनके इलेक्ट्रॉनिक विन्यास में परिवर्तन हो सकता है। <br> (2) सभी कैनोनिकल सूत्रों में अयुग्मित इलेक्ट्रॉनों की संख्या समान होनी चाहिये। <br> (3) सभी संरचनाओं की ऊर्जा लगभग समान होनी चाहिये। <br> (4) बंध कोण और बंध लम्बाई भी सभी सूत्रों की लगभग बराबर होनी चाहिये।

संबंधित वीडियो

play
237165821

1.7 K+

34.1 K+

2:36
play
76227130

2.6 K+

54.2 K+

1:32
play
408035136

9.2 K+

82.3 K+

4:56
play
223423948

1.7 K+

33.8 K+

2:59
play
112170845

1.6 K+

32.2 K+

play
223423808

6.9 K+

137.8 K+

3:28
play
223423806

7.2 K+

145.0 K+

2:47
play
306960486

4.6 K+

92.6 K+

2:12
play
480154713

6.0 K+

14.1 K+

2:11
play
408040567

21.1 K+

46.8 K+

2:15
play
293252408

18

400+

1:00
play
56702054

700+

15.6 K+

6:13
play
306960269

3.7 K+

74.7 K+

4:40
play
306960267

900+

18.7 K+

4:28
play
306960271

1.4 K+

28.5 K+

2:27

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details