logo
search
search
user
login
Login

Home

>

Hindi

>

कक्षा 12

>

Physics

>

Chapter

>

भौतिक विज्ञान -2009

>

(a) दिखाइए कि E ऊर्जा वाले इले...

(a) दिखाइए कि E ऊर्जा वाले इलेक्ट्रॉन की डी ब्रोगली तरंगदैधर्य के लिए सम्बन्ध है lambda=(h)/(sqrt(2m E)). <br> (b) वे डे ग्राफ जेनरेटर का वेल्ट क्यों विद्युतरोधी पदार्थ का बना रहता है ?

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 7-11-2020

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!

2.9 K+

100+

check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
(a) माना एक इलेक्ट्रान विभवांतर V के बीच होकर v वेग प्राप्त कर लेता है। कार्य - ऊर्जा सिद्धांत के अनुसार इलेक्ट्रान की स्थितिज ऊर्जा बराबर होगी प्राप्त की गयी गतिज ऊर्जा की इसलिए <br> `ev=(1)/(2)mv^(2),2ev=mv^(2), v=sqrt((2ev)/(m))` <br> जैसे कि हम जाने है - डी- ब्रोगली तरंग धैर्य , `lambda=(h)/(mv)` या `lambda=(h)/(sqrt(2evm))` <br> चूँकि `ev = E therefore lambda=(h)/(sqrt(2 Em))` <br> (b) चूँकि बेल्ट के द्वारा आवेश को जनित्र में लगे नुकीले चालाक के पास पहुंचाया जाता है। अगर बेल्ट सुचालक होता है , तो आवेश पुरे प्रणाली ( जनित्र) के फैल जाएगा ओर प्रणाली सुचारू रूप से काम नहीं करेगा। <br> अतः जनित्र में लगा बेल्ट कुचालक होता है।

check-circle

चित्र समाधान

Find answer in image to clear your doubt instantly:

संबंधित वीडियो

play
293252215

4.5 K+

90.5 K+

2:39
play
226118342

2.9 K+

60.2 K+

4:02
play
226117860

1.0 K+

21.7 K+

3:51
play
306954898

2.0 K+

45.3 K+

2:41
play
306956723

4.8 K+

8.3 K+

2:27
play
306954897

2.8 K+

11.2 K+

2:27
play
306956724

5.3 K+

112.2 K+

2:41
play
156782337

1.3 K+

27.8 K+

3:26
play
306954899

900+

18.7 K+

5:01
play
306956726

7.8 K+

15.7 K+

5:01
play
334964430

6.2 K+

127.5 K+

4:06
play
320059274

10.1 K+

208.0 K+

4:10
play
118903693

6.6 K+

133.7 K+

4:29
play
234315996

8.8 K+

179.3 K+

4:06
play
334964437

1.7 K+

34.6 K+

6:22

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details