Getting Image
Please Wait...
Login
Register now for special offers
+91

Home

>

Hindi

>

कक्षा 11

>

Chemistry

>

Chapter

>

ऑक्सीकरण-अपचयन अभिक्रियाएँ (रेडॉक्स अभिक्रिया)

>

निम्नलिखित अभिक्रियाओं में <br...

लिखित उत्तर

Solution : (क) `H_(3)PO_(2)` एक अपचायक है जो `AgNO_(3)` को `Ag` में अपचयीकत कर देता है। `AgNO_(3)` ऑक्सीकारक की भाँती कार्य करता है तथा `H_(3)PO_(2)` को `H_(3)PO_(4)` में ऑक्सीकृत कर देता है। <br> (ख) इस अभिक्रिया में भी `H_(3),PO_(2),CuSO_(4)` को `Cu` अपचयित कर देता है। `CuSO_(4)` ऑक्सीकारक की भाँती कार्य करता है तथा `H_(3)PO_(2)H_(3)PO_(4)`में ऑक्सीकृत कर देता है। <br> (ग) `[Ag(NH_(3))_(2)]^(+)` आयन `C_(6)H_(5)CHO` को `C_(6)H_(5)COO^(-)` में ऑक्सीकृत कर देता है। <br> (घ) इस अभिक्रिया में `Cu^(2+)` आयन `C_(6)H_(5)CHO` को `C_(6)H_(5)COO^(-)`में ऑक्सीकृत नहीं कर पाते। <br> अतः इन अभिक्रियाओं से निष्कर्ष निकलता है की `Ag^(+)` आयन `Cu^(2+)` आयन से प्रबल ऑक्सीकारक है।

Loading Books

संबंधित वीडियो

Show More
Comments

Add a public comment...