logo
search
search
user
login
Login

H_(2)S केवल अपचायक की तरह कार्य करती है जबकि SO_(2) ऑक्सीकारक व अपचायक दोनों की तरह कार्य करती है। क्यों ?

check-circle

उत्तर

Step by step solution by experts to help you in doubt clearance & scoring excellent marks in exams.

Updated On: 16-1-2021

Apne doubts clear karein ab Whatsapp par bhi. Try it now.
CLICK HERE

Loading DoubtNut Solution for you

camera

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo
and get the answer completely free,
UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

Watch 1000+ concepts & tricky questions explained!
check-circle

लिखित उत्तर

Solution :
`H_(2)S` में S की ऑक्सीकरण संख्या -2 (न्यूनतम) है, अन्तः इसका अपचयन नहीं हो सकता अतः यह केवल अपचायक नहीं तरह कार्य करती है दूसरी ओर `SO_(2)` में S की ऑक्सीकरण संख्या `+4` है। अतः इसका ऑक्सीकरण व अपचयन दोनों हो सकते है, अतः यह ऑक्सीकरणक व अपचायक दोनों की तरह कार्य करता है ।

संबंधित वीडियो

Show More

बहुत महत्वपूर्ण प्रश्न

bottom open in app
By using this site you agree to the use of cookies. Check our Cookie Policy for more details