doubtnut_header_logo_white_new


जब A2 और B2 को अभिकृत होने दिया जाता है, तो 27C पर, निम्नलिखित अभिक्रिया का साम्यावस्था स्थिरांक, (KC=4) पाया जाता है।
A2(g)+B2(g)<2AB(g)
AB की साम्यावस्था सांद्रता क्या होगी?

लिखित उत्तर

A
1.33 M
B
2.66 M
C
0.66 M
D
0.33M
Answer
The correct Answer is C
Solution
A2(g)+B2(g)<2AB(g)t0240teq2x44x42x4
KC=[AB]2[A2][B2]
4=4x2x26x+8
x26x+8=x2
x=86=43
(AB)=2x4=24×43=0.66
adfree_icon_web_accordion

Ab Padhai karo bina ads ke

Khareedo DN Pro and dekho sari videos bina kisi ad ki rukaavat ke!

Login if already purchased
संबंधित वीडियो
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
निम्न उत्क्रमणीय अभिक्रियाओं पर विचार करें
A2(g)+B2(g)K12AB(g) .... (i)
6AB(g)K23A2(g)+3B2(g)........ (ii)
K1 एवं K2 के बीच संबंध है

565341010

5.4K05:08

निम्न उत्क्रमणीय अभिक्रियाओं पर विचार करें
A2(g)+B2(g)K12AB(g) .... (i)
6AB(g)K23A2(g)+3B2(g)........ (ii)
K1 एवं K2 के बीच संबंध है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
ABC और A'B'C दो त्रिभुज है और G ,G ' उनके केन्द्रक है,तो दर्शाइए की-
AA'+BB'+CC'=3GG'

114717117

5.3K05:03

ABC और A'B'C दो त्रिभुज है और G ,G ' उनके केन्द्रक है,तो दर्शाइए की-
AA'+BB'+CC'=3GG'
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि R त्रिज्या का एक वृत्त मूलबिंदु O से होकर जाता है तथा निर्देशांक अक्षो को A और B पर कट्टा है , तो O से रेखा AB पर डाले गए लम्ब के पाद का बिन्दुपथ है

334964734

5.8K06:39

यदि R त्रिज्या का एक वृत्त मूलबिंदु O से होकर जाता है तथा निर्देशांक अक्षो को A और B पर कट्टा है , तो O से रेखा AB पर डाले गए लम्ब के पाद का बिन्दुपथ है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
सभी वाहनों को P.U.C क्यों दिया जाता है ?

306954892

7.3K02:10

सभी वाहनों को P.U.C क्यों दिया जाता है ?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
सभी वाहनों को P.U.C क्यों दिया जाता है ?

306956719

8.5K02:10

सभी वाहनों को P.U.C क्यों दिया जाता है ?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
निम्नलिखित में से प्रत्येक साम्य में जब आयतन बढ़ाकर दाब कम किया जाता है, तब बतलाइये की अभिक्रिया के उत्पादों के मोलों की संख्या बढ़ती है या घटती है या समान रहती है?
(a) PCl5(g)<PCl3(g)+Cl2(g)
(b) CaO(s)+CO2(g)<CaCO3(g)
( c) 3Fe(s)+4H2O(g)<Fe3O4(s)+4H2(g)

94847072

5.1K10:25

निम्नलिखित में से प्रत्येक साम्य में जब आयतन बढ़ाकर दाब कम किया जाता है, तब बतलाइये की अभिक्रिया के उत्पादों के मोलों की संख्या बढ़ती है या घटती है या समान रहती है?
(a) PCl5(g)<PCl3(g)+Cl2(g)
(b) CaO(s)+CO2(g)<CaCO3(g)
( c) 3Fe(s)+4H2O(g)<Fe3O4(s)+4H2(g)
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
निम्न उत्क्रमणीय अभिक्रियाओं पर विचार करें
A2(g)+B2(g)K12AB(g)...(i)
6AB(g)K23A2(g)+3B2(g)...(ii)
K1 एवं K2 के बीच सम्बन्ध है

555835972

3.8K05:08

निम्न उत्क्रमणीय अभिक्रियाओं पर विचार करें
A2(g)+B2(g)K12AB(g)...(i)
6AB(g)K23A2(g)+3B2(g)...(ii)
K1 एवं K2 के बीच सम्बन्ध है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एकवर्णी प्रकाश का एक पुंज (beam of light) काँच की एक प्लेट पर 58^(@ के कोण पर आपतित होता है और परावर्तित किरणपुंज पूरी तरह समतल-ध्रुवित पाया जाता है। काँच का अपवर्तनांक निकालें।

142054123

3.3K02:26

एकवर्णी प्रकाश का एक पुंज (beam of light) काँच की एक प्लेट पर 58^(@ के कोण पर आपतित होता है और परावर्तित किरणपुंज पूरी तरह समतल-ध्रुवित पाया जाता है। काँच का अपवर्तनांक निकालें।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
माना एक ऊर्ध्वाधर मीनार AB ऐसी है कि उसका सिरा A भूमि पर है। माना AB का मध्य-बिन्दु C है और भूमि पर स्थित बिन्दु P ऐसा है कि AP=2AB यदि BPC=β है, तो tanβ बराबर है

334963493

3.8K05:05

माना एक ऊर्ध्वाधर मीनार AB ऐसी है कि उसका सिरा A भूमि पर है। माना AB का मध्य-बिन्दु C है और भूमि पर स्थित बिन्दु P ऐसा है कि AP=2AB यदि BPC=β है, तो tanβ बराबर है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक अतिपरवलय का केंद्र मूलबिंदु पर है तथा यह बिन्दु (4,2) से होकर जाता है और इसका अनुप्रस्थ (transverse) अक्ष X-अक्ष के अनुदिश है जिसकी लम्बाई 4 है तो इस अतिपरवलय की उत्केन्द्रता (eccentricity) है

334964250

8.6K02:29

एक अतिपरवलय का केंद्र मूलबिंदु पर है तथा यह बिन्दु (4,2) से होकर जाता है और इसका अनुप्रस्थ (transverse) अक्ष X-अक्ष के अनुदिश है जिसकी लम्बाई 4 है तो इस अतिपरवलय की उत्केन्द्रता (eccentricity) है
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
अल्फा बीटा, और गामा ि? अल्फा-, बीटागामा किरणों के गुणों का वर्णन करते हैं

142054235

5.5K08:52

अल्फा बीटा, और गामा ि? अल्फा-, बीटागामा किरणों के गुणों का वर्णन करते हैं
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि किसी घन का आयतन 125cm3 है, तो उसकी भुजा की लम्बाई क्या होगी?

644707331

6.6K01:42

यदि किसी घन का आयतन 125cm3 है, तो उसकी भुजा की लम्बाई क्या होगी?
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक बिंदु p को एक वृत्त के भीतरी भाग से यादृच्छिक रूप से चयन किया जाता है, तो वह, प्रायिकता क्या होगी जिससे यह वस्तुतः वृत्त की परिसीमा के नजदीक होने की बजाय वृत्त के केंद्र से अधिक नजदीक होगा।

371320288

6.2K02:36

एक बिंदु p को एक वृत्त के भीतरी भाग से यादृच्छिक रूप से चयन किया जाता है, तो वह, प्रायिकता क्या होगी जिससे यह वस्तुतः वृत्त की परिसीमा के नजदीक होने की बजाय वृत्त के केंद्र से अधिक नजदीक होगा।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
यदि एक निष्पक्ष सिक्के को 20 बार उछला जाता है और मान लीजिये कि n बार शीर्ष दिखाई देता है, तो n के विषम होने की प्रायिकता का मान ज्ञात कीजिए।

306960494

5.2K01:47

यदि एक निष्पक्ष सिक्के को 20 बार उछला जाता है और मान लीजिये कि n बार शीर्ष दिखाई देता है, तो n के विषम होने की प्रायिकता का मान ज्ञात कीजिए।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
किसी नैज अर्धचालक में ऊर्जा अंतराल Eg का मान 1.2eV है। इसकी होल गतिशीलता इलेक्ट्रॉन की गतिशीलता की तुलना में काफी कम है तथा ताप पर निर्भर नहीं है। इसकी 600K तथा 300K पर चालकताओं का क्या अनुपात है? यह मानिए कि नैज वाहक सांद्रता ni की ताप निर्भरता इस प्रकार व्यक्त होती है-
ni=n0 exp (Eg2kBT)
जहां n0 एक स्थिरांक है।

54862521

6.9K09:40

किसी नैज अर्धचालक में ऊर्जा अंतराल Eg का मान 1.2eV है। इसकी होल गतिशीलता इलेक्ट्रॉन की गतिशीलता की तुलना में काफी कम है तथा ताप पर निर्भर नहीं है। इसकी 600K तथा 300K पर चालकताओं का क्या अनुपात है? यह मानिए कि नैज वाहक सांद्रता ni की ताप निर्भरता इस प्रकार व्यक्त होती है-
ni=n0 exp (Eg2kBT)
जहां n0 एक स्थिरांक है।
doubtnut_header_logo_white_new
FULL VIDEO AND TEXT SOLUTION
एक बच्चो के पास ऐसा पासा है जिससे फलको पैर निम्नलिखित अक्षर है इस पासे को एक बार फेका जाता है इसकी क्या प्रायिकता है :
D प्राप्त हो ?

408062698

7.4K01:32

एक बच्चो के पास ऐसा पासा है जिससे फलको पैर निम्नलिखित अक्षर है इस पासे को एक बार फेका जाता है इसकी क्या प्रायिकता है :
D प्राप्त हो ?