Getting Image
Please Wait...
Login
Register now for special offers
+91

Home

>

Hindi

>

कक्षा 12

>

Biology

>

Chapter

>

पुष्पीय पादपों की शारीरिकी

>

द्विबीजपत्री तने में द्वितीयक ...

Updated On: 27-06-2022

Video Solution: द्विबीजपत्री तने में द्वितीयक जाइलम और फ्लोएम किससे उत्पन्न होते हैं?

Get Answer to any question, just click a photo and upload the photo and get the answer completely free,

UPLOAD PHOTO AND GET THE ANSWER NOW!

लिखित उत्तर

कागजनसंवहनी एधाशीर्षस्थ विभज्योतक कक्षीय विभज्योतक

Answer : B
Solution : द्विबीजपत्री तने में द्वितीयक जाइलम और फ्लोएम संवहनीय एधा से उत्पन्न होते हैं। इन द्वितीयक संवहनी ऊतकों का निर्माण दो प्रकार के विभज्योतक अन्तःपूलीय Interfascicular) व अन्तरपूलीय (Intrafascicular) एधा द्वारा होता है। अन्तरपूलीय एधा प्राथमिक एधा होती है, जो संवहन पूल में पट्टी के रूप में स्थित होते हैं। इनके विभाजन से बाहर की ओर द्वितीयक फ्लोएम व अन्दर की ओर द्वितीयक जाइलम का निर्माण होता है। अन्तःपूलीय एधा की उत्पत्ति मज्जा किरणों से होती है।

उत्तर

Step by step video solution for [object Object] by Biology experts to help you in doubts & scoring excellent marks in Class 12 exams.

Question Details till 27/09/2022

Question
Chapter Nameपुष्पीय पादपों की शारीरिकी
SubjectBiology (more Questions)
Class12th
Type of AnswerVideo
Question Language
In Video - Hindi
In Text - Hindi
Students Watched4.8 K +
Students Liked0 +
Question Video Duration2m38s
Comments

Add a public comment...